हरियाणा में बजने वाला है शहरी निकाय चुनाव का बिगुल, देखें लिस्ट कहां-कहां है आरक्षित पद

पंचकूला । हरियाणा में बहुत जल्द निकाय चुनाव होने की संभावना बढ़ गई है. प्रदेश में 45 शहरी निकायों के प्रधान पद के चुनाव पुराने ड्रा के आधार पर ही होंगे. हरियाणा सरकार ने एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन की कानूनी राय लेने के बाद नए सिरे से ड्रा निकालने के अपने फैसले को वापस लें लिया है. प्रदेश सरकार के इस फैसले का शहरी निकाय विभाग के प्रधान सचिव अरुण गुप्ता ने परिपत्र जारी कर दिया है.

CHUNAV IMAGE

बता दें कि हरियाणा में 45 शहरी निकायों के प्रधान और पार्षदों के चुनाव होने हैं. नगर निगम की तरह प्रधान पद का चुनाव भी सीधा मतदान के जरिए होगा. इसका फायदा यह होगा कि पार्षदों में से किसी एक को प्रधान बनाने के लिए न तो जबरदस्त तरीके से लाबिंग करनी पड़ेगी और न ही पार्षदों को मुंहमांगी कीमत पर खरीदा जा सकेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में पंचायत चुनाव पर आया बड़ा अपडेट, 27 जनवरी 2022 को होगी अगली सुनवाई

शहरी निकाय चुनाव कराने के लिए सरकार द्वारा जून में ड्रा निकाला गया था, जिसके आधार पर यह तय हो चुका था कि किस शहरी निकाय में प्रधान पद महिला, पुरुष, अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग या सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित होगा. हालांकि शहरी निकाय विभाग द्वारा जब यह ड्रा निकाला गया तो उस समय छः निकायों की वार्डबंदी का काम अधूरा पड़ा था और जब यह काम पूरा हुआ तो नए सिरे से ड्रा निकालने की मांग उठने लगी.

हरियाणा सरकार ने नए सिरे से ड्रा निकालने के लिए 22 सितंबर की तारीख घोषित कर दी लेकिन जब पुराने ड्रा के आधार पर अपने चुनाव प्रचार में जुटे लोगों को इस बात का पता चला तो उन्होंने नए सिरे से होने वाले ड्रा पर आपत्ति जताते हुए शहरी निकाय मंत्री अनिल विज और सीएम मनोहर लाल से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि नए सिरे से ड्रा निकालने पर उनकी इतने दिन से चल रही तैयारियों पर पानी फिर जाएगा. सीएम मनोहर लाल ने नए सिरे से ड्रा निकालने का विरोध करने वाले दावेदारों की समस्या को समझा और पुराने ड्रा के आधार पर चुनाव कराने को लेकर एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन से कानूनी राय ली. अब कानूनी राय आने के बाद शहरी निकाय विभाग ने आरक्षित पदों की सूची जारी कर दी है. ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है कि हरियाणा में बहुत जल्द निकाय चुनावों का बिगुल बज सकता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में बुजुर्गों को अभी तक नहीं मिली है वृद्धावस्था पेंशन, अधिकारियों ने बताई यह वजह

नौ नगरपालिकाओं के अध्यक्ष अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित

1. सिरसा

2. ऐलनाबाद

3. फतेहाबाद

4. राजौंद

5. चीका

6. असंध

7. महम

8. सोहना

9. पलवल ( इनमें महम,चीका व सोहना अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित हैं).

चार नगरपालिकाओं में पिछड़ा वर्ग के होंगे प्रधान

1. नांगल चौधरी

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मनोहर कैबिनेट में बड़े बदलाव को लेकर संशय बरकरार, पीएम ने सीएम पर छोड़ा फैसला

2. बावल

3. बहादुरगढ़

4. झज्जर ( इनमें नांगल चौधरी और बहादुरगढ़ पिछड़ा वर्ग की महिलाओं के लिए आरक्षित हैं).

इन नगरपालिकाओं में अध्यक्ष पद सामान्य वर्ग के लिए

1. बरवाला

2. निसिंग

3. चरखी दादरी

4. रानियां

5. पुनहाना

6. फिरोजपुर झिरका

7. गन्नौर

8. घरौंडा

9. पिहोवा

10. महेन्द्रगढ़

11. समालखा

12. शाहाबाद

13. नारनौल

14. नरवाना

15. कैथल

16. जींद

17. हांसी

18. उचाना

19. गोहाना

20. टोहाना

21. लाडवा

22. नूंह

23. होडल

24. मंडी डबवाली

25. भूना

26. रतिया

27. कालावांली

28. थानेसर

29. भिवानी

30. सफीदों

31. नारायणगढ़

( इनमें नरवाना, जींद, कैथल, भिवानी, सफीदों, थानेसर, नारायणगढ़, रतिया,कालावांली और नारनौल सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित हैं)

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!