मंदिर में चोरी से आहत होकर 75 वर्षीय पुजारी ने निगला जहर, मौत

कोसली । कस्बे के गांव गूगोढ स्थित शिव मंदिर के पुजारी 75 वर्षीय संत संझानाथ ने जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. गत 30 अप्रैल को मंदिर के दानपात्र से करीब 3 लाख रुपए की चोरी हो गई थी. जिसके बाद पुजारी मानसिक रूप से परेशान रहते लगा था. पुजारी पिछले 15 साल से इसी मंदिर में पूजा पाठ करता था. हालांकि वह रहने वाला कहा का था, इसके बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है. उनके आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज गांव के ही एड्रेस पर बने हुए थे.

यह भी पढ़े -   अस्पताल में मासूम को कोरोना के भय से छोड़ गए माँ -बाप, डॉक्टरों ने बचाई जान

HANSI SAMDHA MANDIR NEWS

रचनात्मक चित्रण.

गांव के ही एक व्यक्ति सतीश कुमार ने बताया कि मंदिर में चोरी की घटना के बाद पूजारी मानसिक तनाव में थे. उन्हें यह आत्मघाती कदम उठाने की जरूरत क्यों पड़ी, इसको लेकर पुलिस जांच कर रही है. हालांकि पुलिस का कहना है कि चोरी व पूजारी की मौत का अभी तक तो कोई लिंक नजर नहीं आ रहा. दोनों मामलों की गहराई से जांच कर रहे हैं.पूजारी के शव का पोस्टमार्टम करवाकर गांव के ही गणमान्य व्यक्तियों को सौंप दिया गया और उन्होंने गांव में ही पूजारी का अंतिम संस्कार किया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!