हरियाणा के युवक का कमाल, ई-रिक्शा को मोडिफाई कर सैनिकों के लिए बनाई साइलेंट पेट्रोलिंग मशीन

रेवाड़ी | देश में हुनर की कमी नहीं है और इस बात को साबित कर दिखाया है रेवाड़ी के युवा संजय शर्मा ने जिन्होंने देश की रक्षा के लिए विपरीत परिस्थितियों में बॉर्डर पर तैनात रहने वाले जवानों के लिए साइलेंट पेट्रोलिंग मशीन बनाई है. इस मशीन को डिजाइन करते वक्त सैनिकों की सुरक्षा, सैनिकों को होने वाली परेशानी और टेक्नोलॉजी का खास ध्यान रखा गया है. हालांकि अभी भी इस मशीन में तकनिकी रूप से काफी कुछ जोड़ना बाकी है. वैसे यह कोई पहली बार नहीं है जब संजय शर्मा अपना हुनर दिखाया हो इससे पहले भी वे एक ऐसा हेलमेट बना चुके है जिससे बिना हेलमेट लगाए आपकी बाइक स्टार्ट ही नहीं होगी.

यह भी पढ़े -   Raksha Bandhan Special: अबकी बार रक्षाबंधन पर भद्रा का साया, इस वजह से भद्राकाल में नहीं बांधा जाता रक्षासूत्र

news 5

सैनिकों के लिए बनाई साइलेंट पट्रोलिंग मशीन

ई-रिक्शा को मोडिफाई कर साइलेंट पट्रोलिंग मशीन का डेमो तैयार करने वाले संजय शर्मा रेवाड़ी के गाँव तिहाड़ा के रहने वाले है. साधारण परिवार से सबंध रखने वाले संजय ने जयपुर से एमबीए किया है. संजय का कहना है कि ”सरहद पर देश की सुरक्षा करने वाले हमारें सैनिक विपरीत परिस्थितियों में तैनात रहते है. जिनके लिए कुछ करने का हम सबका भी दायित्व बनता है.” सैनिकों के प्रति अपने इसी दायित्व को निभाते हुए उन्होंने साइलेंट पेट्रोलिंग मशीन को डिजाइन किया.

सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल से चलती है मशीन

सुरक्षा के साथ-साथ मौसम की मार से जवानों का बचाव करने में सक्षम ये मशीन एक सॉफ्टवेयर से इस्तेमाल की जा सकती है. जिसके लिए एक मोबाइल एप को डिजाइन किया गया. जिसके अंदर बैठकर ही जवान आसानी से पेट्रोलिंग कर पायेंगे. इसी के साथ साइलेंट पेट्रोलिंग मशीन बुलेट प्रूफ होगी, जिसके अंदर गर्मी–सर्दी के मौसम को ध्यान में रखते हुए तामपान को सामान्य रखने के इंतजाम भी किये गए हैं.

यह भी पढ़े -   तुरंत पैरों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए, इन घरेलू उपायों का करें इस्तेमाल

इतना ही नहीं इस मशीन के अंदर बैठकर जवान दुश्मन को टारगेट करके फायर भी कर पायेंगे. इस मशीन के चार्जिंग के लिये सोलर पैनल लगाया गया है. साथ ही मशीन चलते वक्त खुद पे खुद चार्ज भी हो पाएगी. संजय शर्मा ने बताया कि फिलहाल ये मशीन देखने में सामान्य लग रही है, लेकिन विभिन्न क्षेत्रों के अनुसार इसकी बोडी मोडिफाई की जायेगी.

यह भी पढ़े -   रक्षाबंधन पर भी पड़ी महंगाई की मार, 10 रुपए में मिलने वाली राखी हुई 40 से 50 रुपए की

पहले भी बनाया था हेलमेट

यह कोई पहली बार नहीं है जब संजय ने अपना हुनर दिखाया हो इससे पहले भी संजय ने एक हेलमेट बनाया था जिसको पहने बिना बाइक स्टार्ट नहीं हो सकती थी. संजय ने बताया कि उसके दोस्त की सड़क हादसे में मौत हो गई थी. जिसके बाद उसने एक ऐसा सिस्टम तैयार किया. जिससे कि बिना हेलमेट लगाये बाइक–स्कूटर स्टार्ट ही नहीं होगी. ताकि कोई भी बिना हेलमेट के बाइक ना चलायें. इस हेलमेट में इन्बिल्ड कैमरा भी लगाया जा सकता है. ताकि हादसे के दौरान पुलिस घटनाक्रम को देख सकें.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!