हरियाणा में किसानों की सरकार को चेतावनी, कहां- सब्र का इम्तिहान मत लीजिए

रोहतक । हरियाणा के रोहतक में मकड़ौली टोल प्लाजा पर किसान महापंचायत का आयोजन किया गया. इसमें संयुक्त किसान मोर्चा के शीर्ष नेतृत्व से कई नेताओं ने भाग लिया. इस महापंचायत को संबोधित करते हुए हरियाणा भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने देश व प्रदेश की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा. किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि सरकार हमारे सब्र का इम्तिहान न लें. हम लगातार सरकार का जुल्म सह रहे हैं लेकिन बर्दाश्त करने की भी एक सीमा होती है. हमने 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड के दौरान भी बहुत संयम दिखाया था लेकिन फिर भी उस दिन जगह-जगह हमारे किसान साथियों पर डंडे बरसाए गए, उनके सिर फोड़ दिए गए. हजारों किसानों पर झूठे मुकदमे दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया लेकिन किसान फिर भी शांत रहे.

यह भी पढ़े -   ITR दाखिल करने वालों के लिए बड़ी खबर, देनी होगी बड़े लेन-देन की जानकारी

Karnal Mahapanchayat Kisan

किसान बिगड़ गया तो प्रधानमंत्री की कोठी भी घेर लेगा

किसान नेता गुरनाम चढूनी ने कहा कि किसान आंदोलन को एक साल पूरा हो चुका है और इस दौरान किसान बड़े ही संयम से आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं लेकिन सरकार लगातार किसानों को उकसा रही है ताकि आंदोलन खराब हो जाएं. उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार का मुख्यमंत्री का लठ उठाने का बयान संजोग नहीं है, यह सब सोची समझी साजिश है, उसकी दिन यूपी के लखीमपुर खीरी में भी किसानों को गाड़ी से कुचला गया है.

यह भी पढ़े -   संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में लिया जाएगा बड़ा फैसला, जानें कब होगी बॉर्डरों से किसानों की घर वापसी

सरकार को यह बता देना चाहते हैं कि जिस दिन किसानों ने लठ उठा लिया ना, उस दिन तुम्हारा कुत्ता भी गली में ‌बाहर नहीं निकलेगा. सरकार हमारे सब्र का इंमितहान ना लें. मगर किसान भाईयों से ही निवेदन है कि कोई भी हाथ ना उठाए.सरकार के सभी जुल्म सहते हुए आंदोलन लड़ना है. अगर किसान बिगड़ गया ना तो प्रधानमंत्री की कोठी भी घेर लेंगे। सरकार के पास अभी भी समय है, किसानों की बात सुन लें.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!