हरियाणा पुलिस कॉन्स्टेबल पेपर लीक मामले का असली मास्टरमाइंड गिरफ्तार, आरोपी की सीएम खट्टर व पहलवान योगेश्वर दत्त के साथ फोटो हों रही है वायरल

सोनीपत । हरियाणा के बहुचर्चित पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में सोनीपत एसटीएफ ने दिल्ली से आरोपी रोबिन सिंह को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. आरोपी रोबिन दिल्ली पुलिस में कार्यरत हैं और सोनीपत जिले के गांव शामड़ी का रहने वाला है. माना जा रहा है कि रोबिन ही इस पेपर लीक मामले का असली मास्टरमाइंड है.

hssc exam leak

गिरफ्तार आरोपी रोबिन के हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और पहलवान व बरोदा सीट से बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ चुके योगेश्वर दत्त के साथ फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. जानकारी निकलकर सामने आ रही है कि आरोपी जिला परिषद का चुनाव लड़ने की तैयारी में था. बरोदा चुनाव व फिर बाद में इसी सीट पर हुएं उपचुनाव में आरोपी रोबिन ने जमकर बीजेपी कैंडिडेट योगेश्वर दत्त के लिए चुनाव प्रचार किया था और हल्के के कई गांवों में जनसभाओं का आयोजन करवाया था.

नौकरियों में धांधली का मुख्य मास्टरमाइंड रोबिन सिंह का एक फोटो मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने ऑनलाइन मीटिंग करते हुए भी वायरल हो रहा है. जिसमें आरोपी मुख्यमंत्री से ऑनलाइन मीटिंग पर बात कर रहा है. हालांकि किस विषय में ये मीटिंग हुई ये स्पष्ट नहीं हो पाया. ये तस्वीर भी बरोदा उपचुनाव के दौरान की ही बताई जा रही है. पेपर लीक मामले को लेकर पहले से ही विपक्ष के निशाने पर चल रही मनोहर सरकार की मुश्किलें फिर से बढ़ने वाली है. बड़े मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी के बाद एक बार हरियाणा की राजनीति का सियासी पारा चढ़ सकता है.

यह भी पढ़े -   उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने हिसार में बन रहे हवाई अड्डे का किया निरीक्षण

क्या है पूरा मामला

बता दें कि हरियाणा स्टाफ सलेक्शन बोर्ड ने हरियाणा में 7 अगस्त को पुलिस मेल कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा का आयोजन करवाया था. सुबह की शिफ्ट में पेपर सही हुआ लेकिन शाम की शिफ्ट में पेपर लीक होने से परीक्षा रद्द कर दी गई. मामला सामने आने पर हरियाणा सरकार की काफी फजीहत हुई थी और इस मामले के तार जम्मू तक जुड़े हुए थे.

यह भी पढ़े -   गणतंत्र दिवस पर जींद पहुंचे डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने किए बड़े ऐलान, इन क्षेत्रों में होगा औद्योगिक विकास

हरियाणा सरकार ने इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी. एसटीएफ ने इस मामले की गहनता से जांच करते हुए करीब 20 लोगों को सलाखों के पीछे भेजने का काम किया. सोनीपत एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किए गए मास्टमाइंड रोबिन शामड़ी गांव का रहने वाला है. रोबिन दिल्ली पुलिस में बतौर सिपाही की पोस्ट पर कार्यरत है. यह भी 2009 में फर्जी तरीके से ही दिल्ली पुलिस में भर्ती हुआ था. इसके बाद 2012-13 में इसने पूरे देश भर में अपने इस गोरखधंधे के नेटवर्क को फैलाया. हरियाणा पुलिस द्वारा आरोपी रोबिन सिंह पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!