टोक्यो ओलंपिक से हरियाणा के लिए निराशा भरी खबर, सोनम मलिक को पहले ही मुकाबले में मिली हार

नई दिल्ली ।  आज से ओलंपिक में रेसलिंग के मुकाबलों की शुरुआत हो चुकी है जिसमें हरियाणा के 8 पहलवान प्रतिभाग करेंगे. आज सुबह भारत की ओर से सोनम मलिक ने पहलवानी का पहला मुकाबला खेला जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

olampic

आज सुबह करीब 8:30 बजे 19 वर्षीय भारतीय पहलवान सोनम मलिक ने 62 किग्रा वर्ग में मंगोलिया की एशियाई रजत पदक विजेता बोलोरतुया खुरेलखुव के खिलाफ अपने ओलंपिक सफर की शुरुआत करते हुए पहला मुकाबला खेला. 62 किलोग्राम वर्ग के इस मुकाबले में सोनम मलिक शुरुआत से ही अच्छा खेल का प्रदर्शन करते हुए आगे चल रही थी. मलिक ने मुकाबले के पहले 2 पॉइंट शानदार तरीके से अर्जित किए लेकिन मंगोलिया की पहलवान ने वापसी करते हुए मुकाबले को 2-2 से बराबर कर दिया. बोलोरतुया खुरेलखुव को मैच के दौरान दो टेक्निकल प्वाइंट मिले इन्हीं के आधार पर उन्होंने मुकाबले को जीत लिया.

यह भी पढ़े -   खेल उत्थान में हरियाणा सरकार का बड़ा कदम, नए स्टेडियमों के लिए होगी मैपिंग

सोनम मलिक से पूरे देश को मेडल की उम्मीद थी. ओलंपिक में क्वालीफाई करने वाली भारत की सबसे कम उम्र के खिलाड़ी है. सोनम मलिक ने ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक को हराकर टोक्यो ओलंपिक 2020 में अपनी जगह बनाई थी. हालांकि अभी भी सोनम के पास रेपेचेज के जरिए एक और मौका होगा, जिसके जरिए वह ब्रॉन्ज मेडल तक पहुंच सकती हैं. इसके लिए मंगोलियाई पहलवान का फाइनल में पहुंचना जरूरी है.

सोनम मलिक हरियाणा सोनीपत जिले के गोहाना के मदीना गांव से है. उनके पिता राजेंद्र मलिक किसान और मां मीना मलिक गृहिणी हैं. सोनम की जीत के लिए उनके अखाड़े और गांव में बीते दिन से ही हवन और पूजा पाठ किए जा रहे थे. हालांकि अभी कुश्ती के मुकाबलों की शुरुआत ही हुई है और हरियाणा के छह अन्य खिलाड़ियों ने अपने मुकाबले खेलने हैं. बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट से अब पूरे देश को पदक की उम्मीद है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!