हरियाणा में अब मंडल स्तर पर बनेंगे खेल ग्रेडेशन सर्टिफिकेट, खेल विभाग ने लिया बड़ा फैसला

कैथल | हरियाणा में फर्जी खेल ग्रेडेशन सर्टिफिकेट बनाने को लेकर चल रहा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. राज्य में कई जिलों से फर्जी प्रमाणपत्र बनाने की खबर लगातार खेल विभाग के पास जा रही थी. खबर मिलते ही खेल विभाग भी चौकन्ना हो गया था और प्रदेश के पांच जिलों कैथल, भिवानी, रेवाड़ी, सिरसा और कुरुक्षेत्र में ग्रेडेशन सर्टिफिकेट के कागजातों की जांच की गई थी.

sandeep singh

मामले की जांच के दरम्यान खेल विभाग की तरफ़ से बड़ा फैसला लिया गया है कि अब सी और डी स्तर के खेल सर्टिफिकेट मंडल स्तर पर बनाए जाएंगे.पहले यह सुविधा जिला स्तर पर उपलब्ध थीं. ए और बी ग्रेड के सर्टिफिकेट निदेशालय की ओर से जारी किए जाते हैं. प्रदेश के सभी जिलों को चार मंडलों के आधार पर बांटा गया है. इनमें हिसार, रोहतक, गुरुग्राम और अंबाला मंडल है. हर मंडल के लिए एक डिप्टी डायरेक्टर नियुक्त किया हुआ है. अब जिला स्तर पर प्रमाण-पत्र के कागजातों की जांच का काम किया जाएगा. ग्रेडेशन से संबंधित कर्मचारी और खिलाड़ियों को अपने मंडल पर पहुंचकर सर्टिफिकेट बनवाकर लाना होगा. हालांकि इस निर्णय के बाद खिलाड़ियों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों के सम्मान में पैसों की बारिश, 19 खिलाड़ियों में वितरित हुई 27 करोड़ की धनराशि

महीने में दो दिन किए गए हैं निर्धारित

मंडल स्तर पर ग्रेडेशन सर्टिफिकेट बनवाने के लिए खेल विभाग की ओर से दो दिन निर्धारित किए गए हैं. महीने के दूसरे और चौथे मंगलवार को मंडल स्तर पर ग्रेडेशन बनाकर दिए जाएंगे. प्रमाण-पत्र खेल निदेशालय की तरफ से छपवा कर मंडल स्तर पर भेजें जाएंगे.

प्रमाण-पत्र के फायदे

खिलाड़ियों के लिए प्रमाण-पत्र का बहुत महत्व है. किसी भी खिलाड़ी के लिए स्पोर्ट्स कोटे से कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए प्रमाण-पत्र की आवश्यकता होती है. सरकारी नौकरियों में भी स्पोर्ट्स का अलग से कोटा होता है. उसमें आवेदन करने वाले खिलाड़ी के पास भर्ती की श्रेणी अनुसार ए, बी, सी या डी प्रमाण-पत्र होना चाहिए. सरकार द्वारा भी इन खिलाड़ियों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों के सम्मान में पैसों की बारिश, 19 खिलाड़ियों में वितरित हुई 27 करोड़ की धनराशि

क्या कहते हैं अधिकारी

ग्रेडेशन सर्टिफिकेट बनाने को लेकर निदेशालय की तरफ से नए निर्देश प्राप्त हुएं हैं. अब सी और डी ग्रेड के सर्टिफिकेट जिला स्तर पर नहीं बल्कि मंडल स्तर पर बनाकर दिए जाएंगे- सतविंदर गिल, जिला खेल अधिकारी

इस मंडल के अधीन है यें जिलें

हिसार मंडल: हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, भिवानी, चरखी दादरी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों के सम्मान में पैसों की बारिश, 19 खिलाड़ियों में वितरित हुई 27 करोड़ की धनराशि

रोहतक मंडल: रोहतक, सोनीपत, पानीपत, जींद, झज्जर

गुरुग्राम मंडल: गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, नूंह, रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़

अंबाला मंडल: पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, करनाल, कुरुक्षेत्र, कैथल

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!