अबकी दिल्ली-हरियाणा में सबसे ज्यादा गर्मी पड़ेगी, मौसम विभाग ने तीन महीने का पूर्वानुमान बताया

चंडीगढ़ । गर्मी का मौसम आ चुका है. भारतीय मौसम विभाग ने आने वाले 3 महीनों तक का गर्मी के मौसम को लेकर पूर्वानुमान जारी किया है. दिल्ली और हरियाणा में सबसे अधिक गर्मी के पड़ने के आसार हैं. यहां पर अधिकतम टेंपरेचर नॉरमल टेंपरेचर से 0.62 डिग्री सेल्सियस अधिक रहने की संभावना जताई गई है. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर को छोड़कर उत्तर भारत के अधिकतर भागों में नॉर्मल से ज्यादा गर्मी पड़ने की संभावना व्यक्त की गई है.

GARMI

2016 के बाद से मौसम विभाग गर्मियों के मौसम को लेकर पूर्वानुमान जारी करता आ रहा है. मौसम विभाग ने बुधवार को आने वाले 3 महीनों अप्रैल से जून तक के लिए जारी किए गए पूर्वानुमान में कहा है कि चंडीगढ़, हरियाणा और दिल्ली के भागों में सबसे अधिक गर्मी रहेगी. यहां पर अधिकतम टेंपरेचर 0.62 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा रहेगा.

यह भी पढ़े -   Weather Update: अगले 2 घंटों में हरियाणा और दिल्ली के इन इलाकों में होगी बारिश

हिमाचल प्रदेश में गर्मियों में अधिकतम टेंपरेचर 0.27 डिग्री सेल्सियस, उत्तराखंड में 0.31 डिग्री सेल्सियस, पूर्वी उत्तर प्रदेश में 0.19 डिग्री सेल्सियस, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 0.43 डिग्री सेल्सियस, पूर्वी राजस्थान में 0.37 डिग्री सेल्सियस, पश्चिमी राजस्थान में 0.50 डिग्री सेल्सियस, पंजाब में 0.56 डिग्री सेल्सियस टेंपरेचर ज्यादा रहेगा.

मौसम विभाग ने कहा कि दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ संभाग और पश्चिमी राजस्थान में अधिक गर्मी पड़ने की संभावना 100% है. मौसम वैज्ञानिक राजेंद्र जेनामणि के अनुसार यदि अधिकतम औसत टेंपरेचर में आधे डिग्री से अधिक वृद्धि होती है तो इसका असर लोगों को साफ साफ महसूस होता है. 0.62 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि कितना महत्व रखती है इस बात का अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि आज वैश्विक टेंपरेचर में लगभग 1 डिग्री की औसत बढ़ोतरी है और चारों ओर इस वजह से हाहाकार मचा हुआ है. इसी प्रकार बिहार में अधिकतम टेंपरेचर 0.13 डिग्री सेल्सियस, ओडिशा में 0.35 डिग्री सेल्सियस और झारखंड में 0.27 डिग्री सेल्सियस अधिक रहने की संभावना है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मौसम ने ली करवट, तेज आंधी के साथ बारिश व गिरे ओले

आईएमडी के अनुसार जम्मू कश्मीर, पूर्वोत्तर, पूर्वी भारत के कुछ भाग और दक्षिण भारत के ज्यादातर भागों में अधिकतम टेंपरेचर नॉर्मल से कम रहने की संभावना है. जम्मू कश्मीर में अधिकतम टेंपरेचर एवरेज से 0.53 डिग्री सेल्सियस कम रहने की संभावना है. इसी तरह कर्नाटक, केरल और पश्चिम बंगाल के कुछ भागों में अधिकतम टेंपरेचर नॉरमल से कम रहेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!