कंपनी ने ऑफर की खेत से गोभी तोड़ने के लिए जॉब, सालाना पैकेज सुनकर आप रह जाएंगे हैरान

नई दिल्ली । खेतों में फसल की कटाई एक महत्वपूर्ण काम माना जाता है. वही इस काम का मेहनताना पाने वालों की आर्थिक स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं होती. वह अपना पेट पालने के लिए मजबूरन यह शारीरिक श्रम करते हैं. वही अगर इन दिहाड़ी मजदूरों को भी उनके काम की सम्मानजनक मजदूरी मिले,  तो फिर यह कार्य भी  इज्जत दार कार्यों की फेहरिस्त में आ जाए. ब्रिटेन के लिंकनशायर से एक मामला सामने आया है, जहां एक फार्मिंग कंपनी ने खेतों से गोभी तोड़ने वालों को 62400 पौंड का पैकेज देने की घोषणा की है, यानि कि 63 लाख रुपए साल के वह भी खेतों में गोभी तोड़ने के लिए.

यह भी पढ़े -   देश मे नहीं थम रहे डेंगू और वायरल के मामले, इन राज्यों में है सबसे ज्यादा मरीज

gobi

कंपनी ने खेत से गोभी तोड़ने के लिए 63 लाख रुपए का सालाना पैकेज किया ऑफर 

खेत से गोभी तोड़ने के लिए यह नौकरी टी एच क्लेमेंटस एंड सन लिमिटेड की ओर से ऑफर की जा रही है. इसके विज्ञापन की सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है. इस जॉब के विज्ञापन में लिखा गया है कि पूरे साल भर गोभी और ब्रोकली तोड़ने के काम के लिए 62000 पौंड मिलेंगे. इसका मतलब है कि कोई भी इस कार्य से हर घंटे 30 पाउंड यानी कि ₹3000 से ज्यादा कमाई कर सकता है. बता दें कि बोस्टन लिंकनशायर में स्थित टी एच क्लेमेटस एंड सन नाम की कंपनी ने दो विज्ञापन जारी किए हैं.

यह भी पढ़े -   दिल्ली मेट्रो के येलो लाइन में फ्री वाईफाई सेवा शुरू, यहां देखें फायदा उठाने का सही तरीका

इन विज्ञापनों में एक में उसमें लिखा है कि उन्हें गोभी तोड़ने के लिए फील्ड ऑपरेटर की जरूरत है, वही दूसरे में ब्रोकली की कटाई के लिए लोगों की आवश्यकता का जिक्र किया है. इसके साथ ही यह भी लिखा गया है कि यह काम अच्छी कमाई के साथ पूरे साल मिलेगा. इस समय यूके के खेतों में काम करने वाले वर्कर और मजदूरों की काफी कमी है. जिस वजह से यहां की सरकार सीजनल एग्रीकल्चर वर्कर स्कीम के तहत वर्कर्स को 6 महीने के लिए वहां जाकर जॉब करने का अवसर दे रही है. सिर्फ खेती ही नहीं कई सेक्टर्स में कर्मचारियों का अभाव है. जिस वजह से ब्रिटेन में इन दिनों वर्कर्स की मांग है और उसे पूरा करने के लिए कंपनियां भारी सैलरी देने को तैयार है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!