शंभू बॉर्डर पर किसानों की इलेक्शन से पहले बड़ी प्लानिंग, हरियाणा- पंजाब में मतदान से पहले हो सकता है ये ऐलान

अम्बाला | हरियाणा एवं पंजाब में लोकसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में ऐन मतदान से पहले शंभू बॉर्डर पर डटे किसान बड़ा ऐलान कर सकते हैं. इसके लिए बड़े स्तर पर कार्यक्रम की तैयारियां चल रही है. किसानों के ऐलान को सार्वजनिक नहीं किया गया है, लेकिन ऐसा अनुमान लगाया जा रहे हैं कि केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ कोई रणनीति बनाई जा सकती है. यह कार्यक्रम 22 मई का आयोजित किया जाएगा. बता दें कि इस दिन शंभू बॉर्डर पर डटे हुए किसानों के 100 दिन पूरे हो जाएंगे.

kisan 5

बड़े स्तर पर चल रही है तैयारियां

22 मई को आने वाले लोगों की भीड़ को धूप से बचाने के लिए शंभू बॉर्डर पर बड़ा शेड लगाने की तैयारी की जा रही है. बुलडोजर के जरिए खुदाई का काम हो रहा है. टेंट लगाने के लिए बड़े खड्डे खोदे जा रहे हैं. वाटरप्रूफ टेंट लगाया जा रहा है. काफी संख्या में पाइप बॉर्डर पर पहुंच भी चुके हैं. बता दे कि इस शेड को वहीं लगाया जा रहा है, जहां किसान मजदूर मोर्चा द्वारा अपना मंच बनाया हुआ था.

किसानों ने बुलाई बड़ी मीटिंग

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के चलते हरियाणा में 25 मई तथा पंजाब में 1 जून को वोटिंग होगी. ऐन चुनावों से पहले किसानों द्वारा दोनों राज्यों में बड़ी मीटिंग बुलाई गई है. इसमें केंद्र सरकार के खिलाफ बड़ा निर्णय लेने की बातें सामने आ रही है. हालांकि, किसान इस निर्णय को अभी सार्वजनिक नहीं कर रहे हैं. पिछले 95 दिनों से किसान अपनी मांगों को लेकर यहां पर प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का साफ कहना है कि जब तक सरकार उनकी मांगे नहीं मान लेती, तब तक वह शंभू बॉर्डर से नहीं हटेंगे.

हरियाणा सरकार ने दिल्ली जाने से रोका

किसान कृषि कानूनों से जुड़ी अपनी मांगों को लेकर दिल्ली जाना चाहते थे, लेकिन हरियाणा सरकार ने किसानों को रोकने के लिए शंभू बॉर्डर पर भारी भरकम बैरिकेड लगा दिए. खनोरी बॉर्डर पर एक किसान की मौत हो गई. इसके बाद, किसानों द्वारा निर्णय को स्थगित करके दोनों बॉर्डर पर डेरा जमा दिया गया.

मोदी सरकार कर रही किसानो के साथ बर्बर व्यवहार- तेजवीर सिंह

भारतीय किसान यूनियन शहीद भगत सिंह के प्रवक्ता तेजवीर सिंह पंजोखरा ने जानकारी देते हुए बताया कि किसान आंदोलन के 100 दिन 22 मई को पूरे हो रहे हैं. इस अवसर पर बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. कार्यक्रम को लेकर बड़े पैमाने पर काम चल रहा है. किसानों को ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में पहुँचने के लिए अपील की जा रही है. तमाम किसान जत्थेबंदियों द्वारा सरकार के खिलाफ ठोस निर्णय लिया जाएगा. मोदी सरकार किसानों के साथ बुरा बर्ताव कर रही है. किसान सरकार के जुल्मों का जवाब जरूर देंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!