शैक्षणिक सत्र 2021-22: कोरोना पर टिका है CBSE का फैसला, परीक्षाएं ऑनलाइन होगी या ऑफलाइन

Casino

सोनीपत । कोरोना की दूसरी लहर के चलते 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने के अपने निर्णय को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) नए शैक्षणिक सत्र में दोबारा दोहराने के मूड में नहीं है. यहीं वजह है कि बोर्ड ने नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए हर हाल में बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करवाने की नीति पर अभी से काम करना शुरू कर दिया है. ताकि मुश्किल हालातों में भी विधार्थियों की परीक्षा ली जा सके और उनके मूल्यांकन पर भी इसका असर देखने को नहीं मिलें. बोर्ड अधिकारियों ने बताया कि बोर्ड इस बार दो चरणों में परीक्षा करवायेगा और इसके लिए परीक्षा प्रणाली में भी बदलाव देखने को मिल सकता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में नई शिक्षा नीति 2020 लॉन्च, अब 29 जुलाई को इस दिवस के रूप में मनाएंगे हरियाणावासी

CBSE
वर्ष 2021 में कोरोना महामारी की दूसरी लहर में संक्रमित केसों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से शैक्षणिक गतिविधियां पूरी तरह से बेपटरी हों गई थी. इस को देखते हुए केन्द्रीय माध्यमिक विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 10 वीं व 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया था. जिसके बाद से विधार्थियों के रिजल्ट घोषित करने को लेकर गहन विचार- विमर्श किया गया . उम्मीद है कि जल्द ही परीक्षा परिणाम घोषित हो जाएगा.

दो सत्रों में ली जा सकती है परीक्षा

सीबीएसई ने ठान लिया है कि परिस्थितियां चाहे कैसी भी हो,हर हाल में परीक्षाएं आयोजित करवाईं जाएगी. इसी को मद्देनजर रखते हुए बोर्ड ने शिक्षा प्रणाली को पहले ही तय कर लिया है. इसके तहत शैक्षणिक सत्र 2021-22 में दो सत्र में परीक्षा होगी. पहले सत्र की परीक्षाएं नवंबर- दिसंबर में ली जाएगी और दूसरे सत्र की परीक्षाएं मार्च- अप्रैल में होंगी. नई प्रणाली के तहत पहले चरण की परीक्षाओं में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे जबकि दूसरे सत्र में विस्तृत प्रश्न पूछे जाएंगे. परीक्षा की समयावधि 90 मिनट की होगी.

स्थिति के हिसाब से ऑनलाइन या ऑफलाइन

कोविड-19 की दूसरी लहर का प्रकोप कम होते हीं नए सीजन की पढ़ाई शुरू हो गई है. शिक्षाविदों ने बताया कि कोरोना को लेकर स्थिति सामान्य हुई तो परीक्षाएं ऑफलाइन माध्यम से होगी. अगर कोरोना से हालात दोबारा से बिगड़े तो बोर्ड इस बार ऑनलाइन परीक्षाएं आयोजित करवाएगा. स्टूडेंट्स को घर बैठे परीक्षा देने की सुविधा मिलेगी. जल्द ही इस विषय में दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में अगस्त से खुलेंगे पहली से पांचवी तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

नए सत्र में हर हाल में परीक्षाएं आयोजित होंगी

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान बिगड़ी परिस्थितियों की वजह से सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने का फैसला लिया है. हालांकि सीबीएसई ने तर्क दिया कि परीक्षाओं के जरिए ही विधार्थियों के ज्ञान की परख होती है. यहीं वजह है कि नए सत्र से हर हाल में परीक्षाएं आयोजित करवाने का निर्णय लिया गया है: वीके मितल, महोदय अध्यक्ष, सोनीपत

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!