चंडीगढ़: 71000 की स्कूटी के लिए, इस शख्स ने खरीदा 15 लाख रुपए का वीआईपी नंबर

चंडीगढ़ | कहते हैं कि शौक का कोई मूल्य नहीं होता और शौक को पूरा करते वक्त जो पैसे की परवाह करता है वह कोई शौक नहीं होता. इसी कथन को आज एक शख्स ने पूरा कर दिया है. वीआईपी नंबर प्लेट या फैंसी नंबर प्लेट के क्रेज में लोग मांगी गई कीमत खर्च करने को तैयार रहते हैं. ऐसा ही एक मामला चंडीगढ़ में देखने को मिला. यहां रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने होंडा एक्टिवा स्कूटर के लिए वीआईपी नंबर प्लेट पाने के लिए 15 लाख रुपये से अधिक खर्च किए हैं, जिसकी कीमत सिर्फ 71,000 रुपये है.

honda

कौन हैं खरीदार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विज्ञापन के पेशे से जुड़े 42 वर्षीय बृज मोहन को हाल ही में चंडीगढ़ रजिस्ट्रेशन एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी की ओर से आयोजित एक नीलामी में फैंसी नंबर प्लेट मिली है. उन्होंने वाहन संख्या CH01-CJ-0001 के अधिग्रहण के लिए 15.44 लाख रुपये का भुगतान किया.

हमेशा एक्टिवा में नहीं रहेगा नंबर

यह महंगी गाड़ी की नंबर प्लेट उनके एक्टिवा स्कूटर पर हमेशा के लिए नहीं रहेगी. मोहन ने बताया कि वह भविष्य में इसे अपनी कार में इस्तेमाल करने की योजना बना रहे हैं. शुरुआत में यह उनके स्कूटर पर नजर आएगा. उन्होंने कहा मैं अपने एक्टिवा के लिए नंबर का इस्तेमाल करूंगा जिसे मैंने हाल ही में खरीदा है. आगे बताया कि वह इसे कार के लिए इस्तेमाल करेंगे.

यह भी पढ़े -   शराब बिक्री से खजाना भरने की तैयारियों में जुटी हरियाणा सरकार, ठेकों की ऑनलाइन बिक्री शुरू

फैंसी नंबरों से कमाएं 1.5 करोड़ रुपये

मोहन ने जो नंबर प्लेट खरीदी वह नई सीरीज सीएच01-सीजे के लिए विभिन्न फैंसी वाहन नंबरों की नीलामी का हिस्सा थी. यह नीलामी प्रक्रिया 14 अप्रैल से 16 अप्रैल तक आयोजित की गई थी. चंडीगढ़ लाइसेंसिंग अथॉरिटी के एक अधिकारी के मुताबिक, 378 नंबर प्लेट की नीलामी की गई, जिसमें कुल 1.5 करोड़ रुपये मिले.

यह भी पढ़े -   गर्मियों में जरुर करें इन 5 फलों का सेवन, मौसमी बीमारियों से रहेगा बचाव

लाखों में बिके नंबर

नीलाम किए गए सभी नंबरों में से, मोहन के CH01-CJ-0001 ने 50,000 रुपये के निजी आरक्षित के मुकाबले सबसे अधिक राशि प्राप्त की. जबकि दूसरी सबसे महंगी नीलामी CH-01-CJ-002 थी, जिसमें 5.4 लाख रुपये की राशि मिली थी. तीसरा सबसे ज्यादा कमाई करने वाला नंबर CH-01-CJ-007 था जिसकी नीलामी 4.4 लाख रुपये में हुई थी. जबकि CH-01-CJ-003 4.2 लाख रुपये में बिका. इन नंबरों के लिए आरक्षित मूल्य 30,000 रुपये था.

यह भी पढ़े -   हरियाणा: खूंखार कैदियों के लिए इस जिलें में बन रही है हाइटेक जेल, पीएम सुरक्षा जैसे होंगे आधुनिक इंतजाम

2012 में सबसे महंगी नंबर प्लेट बिकी थी

0001 नंबर प्लेट के लिए सबसे ऊंची बोली 2012 में थी, जब एक वाहन मालिक ने इसे सीएच-01-एपी सीरीज से 26.05 लाख रुपये में खरीदा था. उन्होंने यह नंबर अपनी एस-क्लास मर्सिडीज बेंज कार के लिए खरीदा था. इस कार की कीमत नंबर प्लेट की कीमत से चार गुना ज्यादा थी

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!