हरियाणा में कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर BJP का बड़ा फैसला, जाने क्या

चंडीगढ़। हरियाणा में कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को देखते हुए भाजपा ने बड़ा फैसला लिया है.भाजपा ने अपने सभी विधायकों को 10 मार्च को होने वाले अविश्वास प्रस्ताव को लेकर विहिप जारी किया है. विहिप जारी होने के पश्चात कोई विधायक पार्टी के खिलाफ वोट नहीं कर सकता. विधायकों को हर हाल में सदन में मौजूद रहना होगा.

FotoJet 3

विहिप जारी होने के बाद अगर कोई विधायक पार्टी लाइन से हटकर वोट करता है या विधानसभा में अनुपस्थित रहता है तो उसकी विधानसभा सदस्यता निरस्त कर दी जाएगी.सभी विधायकों को यह जानकारी दी गई है. पार्टी के चीफ विहिप और संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने सभी विधायकों को यह जानकारी भेजी है. बीजेपी के साथ सरकार में सहयोगी जजपा भी अपने विधायकों को विहिप जारी कर सकती हैं. बता दें कि कांग्रेस पार्टी द्वारा 10 मार्च को विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा मे महामारी अलर्ट- सुरक्षित हरियाणा शुरू, जानिए नई गाइडलाइन

मनोहर लाल सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने 10 मार्च को अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान किया है. बीजेपी जेजेपी सरकार के लिए यह किसी चुनौती से कम नहीं होगा.इसी बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने भी अपील की है कि वे अपने क्षेत्र के विधायक पर सरकार के खिलाफ वोट करने के लिए दबाव बनाएं.

यह भी पढ़े -   400 सबसे अधिक प्रभावित गांवों में लोगों की स्क्रीनिंग कराएगी हरियाणा सरकार

हरियाणा विधानसभा में बजट सत्र शुरू हो चुका है. कांग्रेस पार्टी ने मनोहर सरकार को घेरने के लिए अविश्वास प्रस्ताव का दांव खेला है. पूर्व मुख्यमंत्री भुपेंद्र हुड्डा ने यह प्रस्ताव केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लाने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि ऐसा करने से पता चल जाएगा कि कोनसा विधायक सरकार के साथ है, ओर कोनसा विधायक किसानों के साथ है. हालांकि कांग्रेस पार्टी अपनी इस रणनीति में कितना सफल हो पाती है, इसका पता तो 10 मार्च को ही चल पाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!