पूर्व सीएम हुड्डा ने गठबंधन सरकार पर साधा निशाना, एडवांस वसूली के बावजूद भी ट्यूबवेल कनेक्शन नहीं देने के बहाने ढूंढ रही है सरकार

Casino

चंडीगढ़ । पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भुपेंद्र हुड्डा ने प्रदेश की गठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि ट्यूबवेल कनेक्शनों के नियमों में बार-बार फेर-बदल कर सरकार किसानों को परेशान कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने कनेक्शन जारी करने के नाम पर किसानों से करोड़ों रुपए एडवांस वसूली की हुई है लेकिन फिर भी कनेक्शन नहीं देने के बहाने ढूंढ रही है. कभी किसानों के उपर एक कंपनी विशेष की मोटर खरीदने की शर्त थोपी जा रही है तो कभी कहते हैं कि सिंचाई क्षेत्र में ट्यूबवेल कनेक्शन नहीं जारी होंगे. अब बिजली विभाग की ओर से कई क्षेत्रों में ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली अपनाने की शर्त थोपी जा रही है. नेता प्रतिपक्ष हुड्डा ने कहा कि उनके राज में किसानो को ट्यूबवेल कनेक्शन मुफ्त में या नाममात्र लागत पर दिए जाते थे. लेकिन गठबंधन सरकार करोड़ों रुपए एडवांस लेकर भी किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने में आनाकानी कर रही है.

यह भी पढ़े -   काला पानी: हरियाणा और राजस्थान के लोग आमने-सामने, खोद डाला नेशनल हाईवे

BHUPENDER SINGH HOODA
24 घंटे बिजली देने का वादा जुमला

पूर्व मुख्यमंत्री भुपेंद्र हुड्डा ने बिजली संकट को लेकर भी गठबंधन सरकार को घेरने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि बिजली आपूर्ति के लिए लोग धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन समाधान फिर भी नहीं हो रहा है. प्रदेश में बिजली और पानी की किल्लत को लेकर लोग जगह-जगह सड़कों पर उतर रहें हैं. लेकिन सरकार उनकी परेशानियों को देख कर भी अनदेखा कर रही है.
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि 24 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध करवाने को लेकर बड़ा दम भरनेवाली गठबंधन सरकार की असलियत लोगों के सामने आ चुकी है. 24 घंटे बिजली आपूर्ति देने का दावा जुमला साबित हुआ है. उन्होंने कहा कि सरकार सरप्लस बिजली होने का दावा कर रही है लेकिन बड़ा सवाल यह है कि लोगों के घरों में सप्लाई क्यों नहीं की जा रही है. हुड्डा ने कहा कि सरकार में दूरदर्शिता के अभाव की वजह से ही प्रदेशवासियों को बिजली संकट से जूझना पड़ रहा है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के मुख्यमंत्री का किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान, ओम प्रकाश चौटाला का किया समर्थन

हमारी सरकार में लगे थे चार पावर प्लांट

पूर्व मुख्यमंत्री भुपेंद्र हुड्डा ने कहा कि उनके शासनकाल के दौरान हरियाणा में चार नए पावर प्लांट यमुनानगर, खेदड़, झाड़ली और खानपुर खुर्द में लगाएं गए. इसके साथ भारत-अमेरिका परमाणु ऊर्जा समझौते के तहत फतेहाबाद के गोरखपुर में परमाणु बिजली संयंत्र को कांग्रेस सरकार के दौरान मंजूरी प्रदान हुईं थीं. उनके शासनकाल के दौरान हरियाणा बिजली उत्पादन के मामले में आत्मनिर्भर बना था. लेकिन बीजेपी सरकार के शासनकाल के दौरान हरियाणा में एक भी नया पावर प्लांट स्थापित नहीं हुआ है.
उन्होंने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने कांग्रेस शासनकाल के दौरान लगाएं गए पावर प्लांट की कई यूनिट को बंद भी कर दिया .जिसका परिणाम है कि आज लोगों को जरुरत के मुताबिक बिजली नहीं मिल रही है.
हुड्डा ने कहा कि आज लंबे-2 पावर कट और महंगाई रुपी डायन ने आम आदमी का जीना दुश्वार कर दिया है. इसलिए अब किसानों और कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर महंगाई के खिलाफ सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!