शिक्षक दिवस: गुरु जी इस बार भी खाली हाथ, पुरस्कार के लिए अभी करना होगा इंतजार

चंडीगढ़ । प्रदेश के शिक्षक इस बार भी शिक्षक दिवस पर खाली हाथ रहेंगे. शिक्षक दिवस यानी 5 सितंबर के मौके पर हरियाणा सरकार उन्हें राज्य स्तरीय पुरस्कार से नही नवाजेगी. बता दें कि राज्यपाल बंडारु दत्तात्रेय और मुख्यमंत्री मनोहर लाल के चंडीगढ़ से बाहर होने की वजह से प्रदेश सरकार 5 सितंबर को पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित नहीं कर रही है.

haryana cm

केन्द्र सरकार ने इस बार शिक्षकों को पुरस्कार के लिए चयनित करने की अवधि 17 सितंबर तक बढ़ा दी है. 2019-2020 के पुरस्कार भी 2021 में एक साथ ही दिए जाएंगे. शिक्षक पांच सितंबर के मौके पर पुरस्कार पाने को आतुर थे लेकिन सरकार कोई जल्दबाजी में नहीं है. बता दें कि स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से अभी तक 2020 के पुरस्कारों के लिए शिक्षकों का चयन ही नहीं किया गया है.

यह भी पढ़े -   कल हरियाणा में मनाया जाएगा ‘वर्ल्ड कार फ्री डे’, CM खट्टर चलाएंगे साईकिल

2019 के शिक्षकों का चयन भी गत वर्ष नहीं हो सका था. इस बार शिक्षा विभाग ने शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन तों लें लिए थे , लेकिन समय पर चयन नहीं किया जा सका. पहले शिक्षकों का चयन जिला स्तर पर होता था लेकिन अब शिक्षा निदेशालय स्तर पर सरकार ने इसकी व्यवस्था की है. कोरोना महामारी की वजह से बीते दो साल से राज्य शिक्षक पुरस्कार समय पर प्रदान करने की व्यवस्था गड़बड़ा गई है.

जल्द करेंगे पुरस्कृत: शिक्षा मंत्री

शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने बताया कि दो साल के पुरस्कार शिक्षकों को एक साथ दिए जाएंगे. कार्यक्रम पांच सितंबर को आयोजित करने की पूरी तैयारी की जा चुकी थी लेकिन मुख्यमंत्री व राज्यपाल के कार्यक्रम पहले से ही तय थे. वैसे भी केन्द्र सरकार की तरफ से 17 सितंबर तक का समय मिला हुआ है . इससे पहले ही शिक्षकों को सम्मानित कर दिया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!