हरियाणा में घर खरीदने वाले लोगों को मिलेगी राहत, अब मनमानी होगी खत्म

Casino

गुरुग्राम | फरीदाबाद और गुरुग्राम सहित हरियाणा में अब अपना घर खरीदना आसान हो जाएगा. बता दे कि हरियाणा सरकार राज्य में घर खरीदने वालों को बड़ी राहत देने वाली है. सरकार ने प्रदेश के रिहायशी इलाकों में बनी आवासीय कल्याण समितियों और बिल्डरों के संग रजिस्ट्रार की मनमानी खत्म करने की तैयारी कर ली है.

house home

इन जिलों में मकान खरीदना होगा आसान 

गुरुग्राम,फरीदाबाद,सोनीपत,करनाल, हिसार और पंचकूला समेत राज्य के सभी प्रमुख शहरों में रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन काम कर रही है. वहीं जिला रजिस्ट्रार और बिल्डरों की मिलीभगत से इन रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारी हर साल लोगों से कई हजार करोड रुपए वसूल कर रहे हैं. लेकिन लोगों को राहत के नाम पर कोई भी सुविधा नहीं दी जा रही. वही विरोध करने वाले लोगों को न तो कोई हिसाब किताब दिया जाता है और ना ही उन्हें एसोसिएशन की सदस्यता प्रदान की जाती है.

माफिया पर अंकुश लगाने की तैयारी में 

प्रदेश में रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के नाम पर एक अलग ही तरह का माफिया उभर रहा है, जिसे संबंधित जिला रजिस्ट्रार और बिल्डरों का संरक्षण हासिल है. बता दे कि हरियाणा सरकार ने इस माफिया पर अंकुश लगाने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. विधानसभा के मानसून सत्र में हरियाणा सरकार रजिस्ट्रेशन एंड रेगुलेशन आफ सोसाइटीज एक्ट में संशोधन करने का विचार कर रही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 20 हज़ार परिवारों को मिलेंगे सस्ते मकान, तेज़ी से चल रहा निर्माण कार्य

यह बीड़ा गुरुग्राम जिले के बादशाहपुर से निर्दलीय विधायक राकेश दौलताबाद ने उठाया है. वह हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कारपोरेशन के चेयरमैन भी है. वही राकेश दौलताबाद विधानसभा में इस कानून में बदलाव के लिए प्राइवेट मेंबर बिल लाएंगे. बता दें कि इस बिल के समर्थन में विधायकों का समर्थन जुटाया जाएगा. उनकी इस बिल के बारे में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से भी बातचीत हो चुकी है.

यह भी पढ़े -   Haryana Weather Update: हरियाणा में मानसून मेहरबान, कुछ ही देर में कई जिलों में भारी बारिश की संभावना

वह प्रदेश सरकार को यह समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन किस तरह से लोगों को प्रताड़ित करके और अवैध वसूली के काम मे लगी हुई है. बता दें कि दौलताबाद के अनुसार फरीदाबाद में यह राशि 700 से 800 करोड़,करनाल में करीब 300 करोड़,पंचकूला में ढाई सौ करोड़,सोनीपत में 200 करोड़ के आसपास आंकी गई है. इतनी राशि इकट्ठा करने के बावजूद भी लोगों को कोई सुविधाएं नहीं दी जा रही.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!