हरियाणा में चल रही फ्लाइंग स्कूल खोलने की तैयारी, छोटे स्तर से ही बच्चों को पायलट बनाएगी खट्टर सरकार

Casino

चंडीगढ़ । हरियाणा में चार जगहों पर पब्लिक प्राइवेट (PPP) के आधार पर फ्लाइंग स्कूल चलाने की सुविधाओं का पता लगाया जा रहा है. दो जगहों के लिए तो टेंडर भी अलॉट कर दिए गए हैं, हिसार में अंतरराष्ट्रीय विमानन केंद्र की स्थापना के अलावा हरियाणा प्रदेश में मौजूदा हवाई पट्टियों का सुधारीकरण किया जाएगा. ये निर्णय हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की अध्यक्षता मैं आयोजित नागरिक और दंड विभाग के अधिकारियों की बैठक में लिया गया है.

Webp.net compress image 11

बैठक में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने नागरिक उड्डयन विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा- कि महेंद्रगढ़ भिवानी में (पीपीपी) आधार पर फ्लाइंग स्कूल चलाने के लिए टेंडर हो चूके हैं. अब करनाल तथा पिंजौर में ये स्कूल चलाने के लिए संभावनाओं का पता लगाएं. उन्होंने महेंद्रगढ़ जिला के नारनौंद के पास बात शोध और भिवानी की हवाई पट्टियों के सुधारीकरण पर विस्तार से चर्चा की. इन हवाई पट्टियों के रनवे पर फ्लाइट लगवाए जाएंगे, पिता हवाई पट्टी के साथ-साथ टैक्सी ट्रैक बनाया जाएगा.

टर्मिनल बिल्डिंग एवं नेविगेशन में उपयोगी यंत्र भी लगाए जाएंगे. नारनौल में एक और अतिरिक्त हैंगर भी स्थापित करने पर सहमति बनी है. वहां पर ऑफिस बिल्डिंग के लिए पिंजौर के लिए बनाए गए मॉडल को अपनाया. इसी प्रकार भिवानी हवाई पट्टी के रनवे का विस्तार करके उस पर लाइट लगवाने का निर्णय लिया गया है. भिवानी हवाई पट्टी के साथ-साथ पैरलल टैक्सी ट्रैक बनाकर हवाई पट्टी का सुधार किया जाएगा. वहां पर पहले से बनी बिल्डिंग की स्पेशल रिपेयर को भी मंजूरी दी गयी.

यह भी पढ़े -   नगर चुनाव परिषद की बड़ी लापरवाही, मतदाता सूची और वोटर कार्ड में लगाया हनुमान जी फोटो

बैठक में गुरुग्राम में द्वारका एक्सप्रेस वे के साथ में प्रस्तावित ग्लोबल सिटी में हेलीपोर्ट और एयर म्यूजियम विकसित करने की संभावनाओं पर भी चर्चा की गई. दुष्यंत चौटाला ने इनकी संभावनाओं का पता लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि एयर म्यूजियम देश में कहीं नहीं है, और यदि गुरुग्राम में बनाया जाता है तो यह अपनी तरह का अनूठा प्रयास होगा. उन्होंने यह भी कहा कि यदि हेलीपोर्ट यहाँ बनता है तो उसे गुरुग्राम व आसपास के क्षेत्र में औद्योगीकरण और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के पहलवान ने शरीर पर खाएं इतने हथोड़े कि बन गया विश्व रिकॉर्ड, मिला स्टील मैन का खिताब

डिप्टी सीएम ने कहा कि हेलीपोर्ट और एयर म्यूजियम भी (PPP) आधार पर बनवाने का प्रयास रहेगा, और मुख्यमंत्री ने कहा- कि हरियाणा को एयरोस्पेस और डिफेंस के क्षेत्र में उद्योगों का हब बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है. इसके लिए एयरोस्पेस और डिफेंस पॉलिसी बनाई जा रही है. उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर में तो हरियाणा राज्य पहले से ही अग्रणी है. अब एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी बनाकर राज्य में इनसे जुड़े अधिक से अधिक उद्योगों को आमंत्रित करने का लक्ष्य रखा गया है. जिससे कि हरियाणा इन क्षेत्रों में भी हब बन सके. उन्होंने कहा कि हिसार में जो एविएशन हब तैयार हो रहा है, उससे एयरोस्पेस और डिफेंस क्षेत्र के उद्योगों को भी आने का अवसर मिलेंगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!