डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की बड़ी घोषणा, हरियाणा के हर जिले में बनेगा ग्रामीण खेल स्टेडियम

चंडीगढ़ । हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बुधवार को हरियाणा निवास में विकास एवं पंचायत विभाग तथा खेल एवं युवा मामले विभाग की बैठक की अध्यक्षता की. इस दौरान विभाग से जुड़े अधिकारी भी मौजूद थे. बैठक के दौरान उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्टेडियम का रख-रखाव व वहां मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश के विकास एवं पंचायत विभाग और खेल विभाग के साझेदारी कर तैयारी शुरू कर दी है. हर जिले के एक-2 ग्रामीण खेल स्टेडियम पर मनरेगा के तहत कार्य शुरू किया जाएगा और एक मॉडल के तौर पर सुंदर एवं सुदृढ़ बनाने की दिशा में काम होगा. जिस भी खेल स्टेडियम का मॉडल सर्वश्रेष्ठ होगा, उसके हिसाब से ही पूरे प्रदेश के ग्रामीण स्टेडियमों को तैयार किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   केन्द्र सरकार का आश्वासन: हरियाणा को नहीं रहेगी कोयलें की किल्लत, केन्द्रीय मंत्री से मिले हरियाणा के बिजली मंत्री

Dushyant Choutala

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्रों में खिलाड़ियों के लिए संसाधन उपलब्ध करवाने और सरकार द्वारा पहले से निर्मित राजीव गांधी खेल परिसरों को मैंटेन कर वहां सकारात्मक माहौल तैयार किया जाएगा और इसी संबंध में आज दोनों विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाई गई थी. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि ओलम्पिक से लेकर पैरालंपिक खेलों में हरियाणा के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है और देश व प्रदेश को गौरवान्वित करने का काम किया है. इनमें ग्रामीण क्षेत्र के खिलाड़ियों की संख्या ज्यादा है.

यह भी पढ़े -   होम स्टे नीति में मकान मालिकों को बड़ी रियायतें, ग्रामीण पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

ऐसे में गांव में बुनियादी सुविधाओं के अभाव में उन्हें शहरों के खेल स्टेडियमों का रुख करना पड़ता है.
डिप्टी सीएम ने बैठक में उपस्थित सभी जिला परिषदों के सीईओ को निर्देश दिए कि वे आगामी एक महीने में अपने-2 जिला के एक-2 गांव में स्टेडियम की सुंदरता व सुढृढता के उपर काम करें. जिस गांव के स्टेडियम का मॉडल सबसे अच्छा होगा , उसके मॉडल को पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा. इस मॉडल के तहत ही ग्रामीण क्षेत्र के सभी स्टेडियमों का सौंदर्यीकरण और रखरखाव करने को तवज्जो दी जाएगी.

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि केन्द्र सरकार की मनरेगा योजना के तहत 282 कार्य हो रहे हैं जिनमें खेल के मैदान की सफाई,घास लगाना व मैदान समतल करना इत्यादि है. उन्होंने दोनों विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ऐसी योजना बनाएं जिससे मनरेगा के तहत स्टेडियमों में अधिक से अधिक कार्य करवाए जा सकें. इससे ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के तहत रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी और खिलाड़ियों को सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकेगी. बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता होने से खिलाड़ियों का खेल के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण बनेगा और वे अपने अभ्यास पर फोकस कर सकेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!