इन फसलों की खेती करने वाले किसानों की बल्ले बल्ले, मिलेंगे प्रति एकड़ 4 हजार रूपए

चंडीगढ़ | राज्य सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के लिए एक और अहम कदम उठाया है. अब दलहन और तिलहन की खेती करने वाले किसानों को दोहरा लाभ मिलेगा. सरकार ने इन फसलों को उगाने वाले किसानों को प्रति एकड़ चार हजार रुपये का अनुदान देने का फैसला किया है. बता दें कि हरियाणा सरकार द्वारा झज्जर सहित दक्षिण हरियाणा के सात जिलों भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, हिसार और नूंह के लिए एक विशेष योजना शुरू की गई है. इस योजना को अपनाने वाले किसानों को 4000 रुपये प्रति एकड़ की दर से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार के लिए अग्निपरीक्षा बनी CET परीक्षा, सीआईडी समेत साइबर सेल अलर्ट मोड पर

Moong Dal

एक सरकारी प्रवक्ता ने योजना की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार लागत कम कर किसानों की आय बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है. फसल विविधीकरण के तहत दलहन और तिलहन फसलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा यह नई योजना शुरू की गई है. राज्य में खरीफ 2022 के दौरान एक लाख एकड़ में दलहन और तिलहन फसलों को बढ़ावा देने का लक्ष्य है.

इन फसलों की खेती करने वाले किसानों की बल्ले बल्ले

इस योजना के तहत 70 हजार एकड़ में दलहन फसलों (मूंग और तूर) और 30 हजार एकड़ में तिलहन फसलों (अरंडी और मूंगफली) को बढ़ावा दिया जाएगा. दलहन और तिलहन उगाने वाले किसानों को 4 हजार प्रति एकड़ की दर से अनुदान दिया जाएगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के सीएम खट्टर ने स्वतंत्रता दिवस पर दिया बड़ा तोहफा, इन गाँवों को मिलेगी 24 घंटे बिजली

यह योजना खरीफ 2022 के दौरान दक्षिण हरियाणा के 7 जिलों झज्जर, भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, हिसार और नूंह में लागू की जाएगी. इस योजना का लाभ लेने वाले किसान को मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण कराना आवश्यक है. वित्तीय सहायता फसल के सत्यापन के बाद किसानों के खातों में हस्तांतरित की जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!