श्मशान घाटों की पड़ताल में दिखी आंकड़ों से अलग तस्वीर, सरकार ने 41 मौतें बताईं, जबकि प्रदेश में 115 चिताएं जलीं

चंडीगढ़ । हरियाणा सरकार प्रदेश में कोरोना के गम्भीर मरीजों के साथ-साथ संक्रमण से हुई मृत्यु के सच को भी छुपाती हुई नजर आ रही है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को कोरोना संक्रमण से हुई मृत्यु का आंकड़ा 41 बताया गया, लेकिन जब हरियाणा के सभी 22 जिलों के श्मशान घाटों की जांच पड़ताल की गई तो यह सच्चाई निकल कर सामने आई कि एक दिन में ही कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत 115 शवों का दाह संस्कार किया गया है. सबसे ज्यादा दाह संस्कार फरीदाबाद में हुए जिनकी संख्या 29 रही. लेकिन रिपोर्ट में फरीदाबाद में केवल 5 मृत्यु ही दिखाई गई है..

यह भी पढ़े -   पॉजिटिविटी दर के मामले में हरियाणा गोवा के बाद दूसरे स्थान पर

corona

पंचकूला में 3, पानीपत में 6, रोहतक में 12 दाह संस्कार किए गए, लेकिन सरकारी रिकॉर्ड में इन जिलों में एक भी मृत्यु बताई नहीं गई है. इसके अतिरिक्त गुड़गांव में केवल 4 मौतें दिखाई गई हैं परंतु 22 दाह संस्कार किए गए हैं. हरियाणा में पिछले 24 घंटों में 8420 नए कोरोना के मामले पाए गए हैं. अब हरियाणा में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले 51601 तक पहुंच गए हैं.

यह भी पढ़े -   फतेहाबाद नागरिक अस्पताल से मृत शरीर गायब, मचा हड़कंप

पॉजिटिविटी रेट के बढ़ने की वजह से हरियाणा के स्वस्थ और गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि निजी हॉस्पिटल में जुकाम, खांसी और बुखार जैसे लक्षण वाले मरीजों का भी कोरोना वायरस टेस्ट करना अनिवार्य है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा के 2 जिले पानीपत और हिसार में डीआरडीओ द्वारा 2 कोविड-19 हॉस्पिटल बनाने की बात कही गई है. प्रत्येक हॉस्पिटल में 500 से लेकर 1000 तक बेड की व्यवस्थाएं होंगी. आपातकालीन स्थिति में इनका उपयोग किया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!