हरियाणा सरकार का बड़ा कदम: कोरोना मरीजों के लिए लांच की ‘संजीवनी परियोजना’, जानिए सम्पूर्ण जानकारी

चंडीगढ़ | हरियाणा सरकार ने एक ओर बड़ा कदम उठाते हुए कोरोना मरीजों के लिए संजीवनी परियोजना (Sanjeevani Pariyojana Haryana) लांच की हैं. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए परियोजना को हरी झंडी दिखाई . पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरुआत में इसे करनाल जिले से स्टार्ट किया गया है. यह योजना उन ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा देखभाल को लेकर लोगों को जागरूक करेगी जहां वायरस की दूसरी लहर और इस महामारी को लेकर लोगों में जागरूकता कम है.

यह भी पढ़े -   कैबिनेट का फैसला: प्रदेश में अब डीलर के जरिए होगा कमर्शियल वाहनों का पंजीकरण, नहीं जाना होगा आरटीए

haryana cm

सरकार के एक प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि इस संजीवनी योजना के तहत उन मरीजों की देखभाल उनके खुद के घर पर ही की जाएगी जिनमें कोविड 19 के हल्के से मध्यम लक्षण नजर आते हैं.सरकार की सोच है कि 90% रोगियों को घर पर ही बुनियादी मेडिकल सुविधाएं देने से उसे वहीं ठीक किया जा सकता है.

योजना के फायदे (Sanjeevani PariYojana Haryana)

हस्पतालों में बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन की आपूर्ति और घर- घर जागरूकता अभियान जैसे ज़रुरी संसाधनों के इंतजाम के लिए एक एकीकृत कमान और नियंत्रण कक्ष प्रदान करेंगी. परियोजना के अंतर्गत कोविड हॉटलाइन का संचालन किया जाएगा जो संदिग्ध या हस्पताल में उपचाराधीन कोविड 19 के मरीजों को बुनियादी प्रशिक्षण व मार्गदर्शन देने के लिए मौजूदा कॉल सेंटर की क्षमता में वृद्धि करेगी.

यह भी पढ़े -   कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों पर कितना पड़ेगा दुष्प्रभाव, WHO और AIIMS ने किया सर्वे, जानें नतीजे

मेडिकल इंटर्न के अलावा 200 मेडिकल फाइनल ईयर के विधार्थियों को जुटाकर उन्हें सलाहकारों और विशेषज्ञों से जोड़कर चिकित्सा दायरे का विस्तार करेगी. होम केयर किट का वितरण किया जाएगा जिसमें एक मास्क, एक ऑक्सीमीटर, एक थर्मामीटर और बुनियादी दवाएं सम्मिलित होंगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!