बड़ी घोषणा: नौवीं से बारहवीं कक्षा तक के बच्चों को इसी सत्र से मुफ्त शिक्षा देंगी हरियाणा सरकार

पंचकूला । हरियाणा में नौवीं कक्षा से बारहवीं कक्षा तक के बच्चों को इसी शिक्षा सत्र से मुफ्त शिक्षा मिलेगी. मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा बजट में की गई इस घोषणा को पूरा करने तथा प्रदेश में नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर की अध्यक्षता में शुक्रवार को शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों की मैराथन बैठक हुई.

SCHOOL STUDENT

हरियाणा के सरकारी स्कूलों में नौवीं तथा दसवीं कक्षा में 1,82,419 लड़के तथा 1,92,018 लड़कियां शिक्षा ग्रहण करती है. एक विधार्थी को मुफ्त पढ़ाने पर सरकार को करीब 5315 रुपए खर्च आएगा. तीन लाख,74 हजार ,437 बच्चों पर सालाना करीब 200 करोड़ रुपए खर्च होंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा बोर्ड 12वीं की बोर्ड परीक्षा पर मंथन, जाने कब होंगी परीक्षाएं

इसी तरह ग्यारहवीं और बारहवीं कक्षा में लड़कों की संख्या 1,16,359 लड़के तथा 1,28,492 लड़कियां हैं. एक विधार्थी को पढ़ाने में सरकार का करीब 6150 रुपए खर्च आएगा. 2,44,821 बच्चों पर सालाना 150.56 करोड़ रुपए खर्च होंगे. हरियाणा में नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए गठित 10 कमेटियों ने भी अपनी सिफारिशें दे दी है.

यह भी पढ़े -   CBSE 12th कक्षा की परीक्षा होने की सम्भावना कम, किया जा सकता है प्रमोट

हरियाणा सरकार साल 2025 तक नई शिक्षा नीति को लागू करने की तैयारी में है. इस नीति के तहत ड्राप आउट बच्चों की शिक्षा को कम किया जाएगा. दसवीं कक्षा में आने के बाद ड्राप आउट रेट अधिक हो जाता है, इसलिए इसे कम करने के लिए निशुल्क शिक्षा का प्रावधान किया गया है. शिक्षा से वंचित और कम शिक्षा वाले 10 खंडों की पहले चरण में पहचान की जाएगी. वहां ऐसे प्रोडक्ट चलाएं जाएंगे जो दाखिला बढ़ोतरी में प्रोत्साहन करें. उन्हें विशेष शिक्षा जोन के दायरे में लिया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!