निजी अस्पताल में महिला को तड़पता छोड़कर फरार हुए डॉक्टर

फतेहाबाद । मॉडल टाउन स्थित एक निजी अस्पताल से लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है जिसका खामियाजा एक 69 वर्षीय वृद्धा को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा. वेंटिलेटर आदि की सुविधा ना होने के बावजूद भी निजी अस्पताल बाहर तमाम सुविधाओं का बोर्ड लगाकर लोगों को भ्रमित करने का काम करते हैं. सूचना मिलते ही डिप्टी सीएमओ डॉ हनुमान व भट्टू कला से एसएमओ डॉ सुजाता बंसल मेडिकल टीम समेत मौके पर पहुंचे. स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखते ही डॉक्टर यहां से रफूचक्कर हो गए.

यह भी पढ़े -   शादी के 24 घंटे के बाद दुल्हन फरार, वापिस लेने गए दूल्हे को पीटा, वजह हैरान कर देगी

hospital

मिली जानकारी के अनुसार फतेहाबाद की अग्रवाल कालोनी निवासी एक 69 वर्षीय वृद्धा को भट्टू कला के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. आक्सीजन की कमी के चलते परिजनों ने बाहर लगे बोर्ड पर वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध होने की देखकर अस्पताल में पता लगाया तो वहां बैठे कम्पाउन्डर ने हां भरी. जिस पर सुबह मरीज को फतेहाबाद से यहां लाया गया. लेकिन यहां आने पर पता चला कि यहां वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध नहीं है. इस पर परिजनों ने अस्पताल प्रशासन से सवाल जवाब किए तो इस हंगामे के बीच महिला की तबीयत ओर बिगड़ने लगी.

यह भी पढ़े -   हिसार में हालत तनावपूर्ण, झड़प में कई किसान और पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल

सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो देखा कि महिला का आक्सीजन लेवल बहुत ही कम हो चुका था और यहां वेंटिलेटर की भी सुविधा नहीं है. मौके की नजाकत को देखते हुए अस्पताल के डाक्टरों ने यहां से भागना ही मुनासिब समझा. मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोविड पोजिटिव महिला को बचाने का भरसक प्रयत्न किया और तुरंत एंबुलेंस के माध्यम से महिला को फतेहाबाद के लिए रेफर किया. लेकिन वृद्ध महिला ने फतेहाबाद अस्पताल में पहुंचने से पहले ही रास्ते में दम तोड दिया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!