हरियाणा में हार के बाद BJP प्रत्याशी की वायरल ऑडियो रिकॉर्डिंग से मचा हड़कंप, जानें क्या है पूरा माजरा

हिसार | हरियाणा की हिसार लोकसभा सीट (Hisar Lok Sabha) से हार का सामना करने वाले भाजपा प्रत्याशी रणजीत चौटाला की एक कॉल रिकार्डिंग वायरल होने के बाद बवाल खड़ा हो गया है. इस ऑडियो में उन्होंने अपनी हार के लिए कुलदीप बिश्नोई, रणधीर पनिहार, कैप्टन अभिमन्यु और राज्यसभा सांसद सुभाष बराला को जिम्मेदार ठहराया है. ये ऑडियो पार्टी के एक कार्यकर्ता के साथ बातचीत की है.

Ranjit Singh Chautala

रणधीर पनिहार ने किया पलटवार

रणजीत चौटाला के आरोपों पर पलटवार करते हुए रणधीर पनिहार ने कहा कि अगर मैं और कुलदीप बिश्नोई आदमपुर और नलवा में जोर नहीं लगाते तो उन्हें यहां से 50- 50 हजार वोटों से हार का मुंह देखना पड़ता. उन्होंने कहा कि चुनाव हारने के बाद रणजीत चौटाला ऐसी बेबुनियाद बातें कर रहा है. अगर हिम्मत करते तो मतदान से एक दिन पहले कहते. वोटिंग से एक दिन पहले उन्होंने मेरे समर्थकों के सामने ये तक कहा था कि रणधीर पनिहार, मैं आपकी हर बात का वजन रखूंगा.

कैप्टन अभिमन्यु की प्रतिक्रिया आई सामने

वायरल ऑडियो पर कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि हां मैंने इसे सुना है, लेकिन रणजीत चौटाला ने जब इस ऑडियो को डिनाई कर दिया है तो मैं इस पर अब आगे कुछ नहीं कहूंगा. हर कोई हार की समीक्षा करता है और मेरा इस पर प्रतिक्रिया देना गलत होगा. हां, ये सच है कि पार्टी को नारनौंद में बड़े मार्जिन से हार का सामना करना पड़ा है.

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि सब चीजें विश्लेषण का विषय होती है. हर विधानसभा का अपना समीकरण होता है. रणजीत चौटाला बड़े आदमी हैं और वे जहां चाहे अपनी बात रख सकते हैं. मगर वायरल ऑडियो पर उन्होंने स्पष्ट किया है कि यह उनका नहीं है.

फीडबैक के आधार पर रिपोर्ट तैयार

हिसार लोकसभा सीट से हार के बाद रणजीत चौटाला ने अपने समर्थकों से मिले फीडबैक के आधार पर एक रिपोर्ट तैयार की है. कार्यकर्ताओं से मिले फीडबैक में नलवा और आदमपुर में हार का कारण कुलदीप बिश्नोई है. उनके इशारे पर रणधीर पनिहार ने अपने समर्थकों के वोट रणजीत चौटाला की बजाय कांग्रेस प्रत्याशी जयप्रकाश उर्फ जेपी के पक्ष में करवाएं है. बताया जा रहा है कि इस रिपोर्ट में रणधीर पनिहार के ऑडियो भी है, जिसमें वो रणजीत को वोट न करने की बात कह रहे हैं.

दोनों जगहों से हारे थे चौटाला

दरअसल, रणजीत चौटाला को नलवा और आदमपुर विधानसभा सीट से बड़े मार्जिन से जीत की उम्मीद थी लेकिन जीत तो दूर की बात है, दोनों हल्कों से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. आदमपुर से उन्हें 6,384 वोटों से हार मिली जबकि नलवा में चौटाला 2,439 वोटों से पिछड़ गए थे. जो रणजीत की हार का सबसे बड़ा कारण बना है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!