किसान आंदोलन: इस गांव ने भी लौटाया सीएम दुष्‍यंत चौटाला द्वारा दिया गया पानी का टैंकर

हिसार । उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला द्वारा उकलाना हल्के के बधावड़ गांव में भेजें गए पानी के टैंकर को पंचायत ने सर्वसम्मति से नामंजूर कर दिया. इस दौरान पानी का टैंकर लोटाने पहुंचे आंदोलनकारी किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में जमकर नारेबाजी की.

uklana bandwada news

इससे पहले रविवार को पंचायत में सभी ग्रामवासियों की सहमति से जिला उपायुक्त के नाम एक पत्र लिखा गया, जिसमें उपमुख्यमंत्री द्वारा दी गई वाटर टैंक की भेंट को अस्वीकार कर दिया. ग्रामीणों की और से पंचायत में यह फैसला लिया गया है कि केन्द्र सरकार द्वारा लाएं गए कृषि कानूनों के विरोध में वह उपमुख्यमंत्री द्वारा दी गई भेंट को अस्वीकार करते हैं और जिला उपायुक्त के माध्यम से ही इसे वापस करते हैं.

यह भी पढ़े -   हिसार: कोरोना महामारी में कालाबाजारी करने वालो की पैरवी नहीं करेगा कोई वकील

इस पंचायत की अध्यक्षता मास्टर मान सिंह ने की तथा पंचायत में रामफल बूरा, मास्टर मानसिंह सहित अनेक वक्ताओं ने विचार रखे. इस दौरान यह भी प्रस्ताव रखा गया कि जब तक किसानों की मांगों को नहीं माना जाता तब तक गांव में भाजपा और जेजेपी पार्टी के किसी नेता को नहीं बुलाया जाएगा. आज की पंचायत ने में कुछ लोगों ने टैंकर को गांव में रखने की सहमति दी, परन्तु गांव वालों ने उन को भी मनाकर साथ ले लिया और पंचायत में सर्वसम्मति से यह फैसला पास कर दिया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!