इस शुभ मुहूर्त पर करें दीपावली पूजा, जाने पूजा करने का सही तरीका

फतेहाबाद । दीपावली पर्व का त्योहार वीरवार को है, ऐसे में बाजार सज गए हैं. बता दें कि धनतेरस पर भी लोगों ने रिकॉर्ड तोड़ खरीदारी की. मंगलवार को जो बाजार सुबह सुनसान नजर आए थे, वहीं दोपहर बाद बाजारों में पांव रखने के लिए भी जगह नहीं मिली. यही हाल बुधवार को भी देखने को मिला. दीवाली से 1 दिन पहले लोगों ने जमकर खरीदारी की. बता दें कि कोरोना संकट के बाद यह पहली बार ऐसा मौका है जब लगातार पांच दिनों तक बाजारों में रौनक रहेगी.

यह भी पढ़े -   साल का अंतिम सूर्य ग्रहण शुरू, जानिए क्या पड़ेगा प्रभाव

Webp.net compress image 16

इस शुभ मुहूर्त पर करें दीपावली पूजा 

इससे पहले व्यापारियों के चेहरे से रौनक गायब थी. इस बार दिवाली पर्व पर पूजा करने का शुभ मुहूर्त 2 घंटे 11 मिनट रहेगा. बता दें कि पिछले साल केवल 1 घंटे से 38 मिनट का समय मिला था. अबकी बार अच्छा समय मिलने के बाद लोग पूजा-अर्चना भी अच्छे से कर सकेंगे. बता दें कि दीपावली पर लक्ष्मी पूजन के तीन मुहूर्त होते हैं, इन्हें प्रदोष काल, निसीथ काल और महा निसीथ काल कहते हैं. अमावस्या तिथि 4 नवंबर 2021 को सुबह 6:03 से शुरू होगी इसका समापन 5 नवंबर को सुबह 2:44 पर होगा. लक्ष्मी पूजा करने का शुभ मुहूर्त शाम 6:09 से रात्रि 8:20 तक है. बता दें कि प्रदोष काल 5:34 से 7:10 तक, वृषभ काल 6:10 से 8:06 तक शुभ मुहूर्त है.

ऐसे करें पूजा 

  • दीपावली पर लक्ष्मीजी की ऐसी फोटो खरीदें, जिसमें वे भगवान विष्णु के चरणों के पास बैठी हैं.
  • मां लक्ष्मी के चांदी से चरण चिह्न खरीदना चाहिए.
  • श्रीयंत्र देवी लक्ष्मी का प्रतीक है. इसे घर के मंदिर में स्थापित करना चाहिए.
  • देवी लक्ष्मी की पूजा में कमल का फूल रखना अनिवार्य है. कमल के पौधे से कमल गट्टा भी मिलता है.
  • पूजनकर्ता मूर्तियों के सामने की तरफ बैठें. कलश को लक्ष्मीजी के पास चावलों पर रखें.
यह भी पढ़े -   साल का अंतिम सूर्य ग्रहण शुरू, जानिए क्या पड़ेगा प्रभाव

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!