Pitru Paksha Special: क्या है पितृ दोष, इन उपायों से पा सकते है पितृदोष से मुक्ति

ज्योतिष, Pitru Paksha Special | भाद्रपद पूर्णिमा के साथ पितृपक्ष की शुरुआत हो चुकी है जो अश्विन मास की अमावस्या तिथि के साथ समाप्त हो जाएंगे. बता दें कि इन दिनों पितरों का तर्पण और श्राद्ध किया जाता है. वही मान्यता है कि पितृपक्ष के दौरान पितृ पृथ्वी पर आते हैं जिससे उनका श्राद्ध कर्म करके मोक्ष की प्राप्ति मिल सके. कई लोगों की कुंडली में पितृदोष भी होता है जिस वजह से उनका कोई भी काम पूरा नहीं होता, वही बनता काम भी बिगड़ जाता है.

यह भी पढ़े -   अक्टूबर के महीने में 7 ग्रह करेंगे गोचर, इन राशि के जातकों की चमकेगी किस्मत

Pitru Paksha

जानिए क्या है पितृ दोष

यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उसका अंतिम संस्कार विधि विधान से ना किया जाए या फिर किसी व्यक्ति की अकाल मृत्यु हो जाती है तो उस व्यक्ति से जुड़े परिवार को पितृदोष का सामना करना पड़ सकता है. फिर यह दोष एक पीढ़ी तक ही नहीं बल्कि पीढ़ियों दर पीढ़ियों चलता रहता है. इस वजह से आपके हर काम में समस्याएं उत्पन्न हो जाती है.

पितृदोष से मुक्ति के उपाय

  • पितृदोष से छुटकारा पाने के लिए आप श्राद्धपक्ष मे प्रतिदिन सुबह एक कलश में पानी ले और उसमें 2 बून्द गंगाजल डालकर इसे भगवान शिव पर अर्पित कर दे, ऐसा करने से भी पितृदोष से मुक्ति मिल जाती है.
  • यदि आपकी कुंडली में भी पितृदोष मौजूद है तो आप पितरों की फोटो दक्षिण दिशा की तरफ लगाए. रोजाना माला चढ़ाकर उनका स्मरण करें, ऐसा करने से पितृ दोष समाप्त हो जाता है.
  • पीपल के पेड़ में दोपहर के समय जल चढ़ाए. इसके साथ ही अक्षत, दूध, गंगाजल और काले तिल भी चढ़ाए और पितरों को याद करें.
  • रोजाना शाम के समय दक्षिण दिशा की तरफ एक दीपक जरूर जलाएं. यदि आप रोजाना नहीं जला सकते तो पितृपक्ष के दौरान अवश्य जलाए.
  • पितृदोष से छुटकारा पाने के लिए आप गरीब कन्याओं का विवाह करवाएं या फिर किसी के विवाह में सहायता करें, ऐसा करने से भी पितृदोष से छुटकारा मिल जाता है.
यह भी पढ़े -   नवरात्रि के पहले दिन घर में जरूर लाए यह 5 चीजें, खुशियों से झोली भर देगी मां शैलपुत्री

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!