भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी विधायक ने खोली अपनी ही सरकार की पोल, जड़े गंभीर आरोप

कैथल | हरियाणा में जीरो टॉलरेंस नीति का दावा करने वाली हरियाणा की मनोहर सरकार की उसके ही एक विधायक ने पोल खोल कर रख दी है. कैथल विधानसभा क्षेत्र से भाजपा (BJP) विधायक लीलाराम गुर्जर ने अफसरशाही को लेकर अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा किया है. सरकार के पारदर्शिता को लेकर किए जा रहे दावों के खिलाफ विधायक लीलाराम प्रदेश की गठबंधन सरकार के खिलाफ खुलकर मुखर हो गए हैं.

BJP

भाजपा विधायक लीलाराम गुर्जर ने फूड सप्लाई विभाग व हैफेड के अधिकारियों पर गंभीर आरोप जड़ते हुए कहा कि कैथल की अनाज मंडी में धान खरीद को लेकर पिछले कुछ सालों से धान घोटाला जारी है. उन्होंने कहा कि दोनों विभागों के अधिकारी रिश्वतखोर है और अपनी मर्जी से धान की खरीद करवाते हैं. दोनों विभागों के अधिकारियों की मिलीभगत से भोले-भाले किसानों को लूटा जा रहा है.

विधायक लीलाराम गुर्जर ने कहा कि दोनों विभागों के इन भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ वो कई बार शिकायत कर चुके हैं लेकिन इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. उन्होंने कहा कि कुछ चावल मिल मालिक सीएम आवास पर जाकर सीएम मनोहर लाल को ही गुमराह करने का काम रहे हैं. लीलाराम ने कहा कि वो जल्द ही इस मामले को लेकर सीएम से मुलाकात करेंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 3 दिसंबर को पंच-सरपंचो का शपथ ग्रहण समारोह, इस बार नई पहल शुरू

विधायक लीलाराम गुर्जर ने कहा कि इस घोटाले को लेकर जब उन्होंने कैथल डीसी संगीता तेतरवाल से बात की तो उनका कहना था कि इस मामले पर मीडिया को जानकारी न देकर DIPRO से बात की जाए. बता दें कि कई दिनों से कैथल अनाज मंडी में धान खरीद को लेकर आढ़ती व राइस मिलरों के बीच काफी खिंचतान चल रही है. जिसके चलते कैथल के राइस मिलरों ने अनाज मंडी से धान खरीद बंद करवा दी,जिसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!