मिड डे मील के चावलों से तबीयत बिगड़ने का आरोप, दो बच्चों की मौत, मां की हालत गंभीर

करनाल | हरियाणा के करनाल जिले के असंध के गांव रिसालवा में जहरीला खाना खाने से दो बच्चों की मौत हो गई और उनकी माता की हालत गंभीर है. गंभीर मां का इलाज कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में चल रहा है. वही गांव के पूर्व सरपंच लाभ सिंह वह मृतक के मामा रवि और सतेंद्र ने बताया है कि दोनों बच्चे मिड-डे मील से सूखे चावल लेकर आए थे.

mid day meel news

प्रतीकात्मक तस्वीर

रात को बच्चों की मां पूनम ने चावल बनाए थे और साथ में आलू की सब्जी बनाई थी. जिसे खाने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ी. अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि इन तीनों की तबीयत मिड डे मील के चावलों से बिगड़ी थी या दूसरे चावलों से. असंध थाना पुलिस ने दोनों बच्चों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है. मृतक बच्चों के चाचा अनिल की शिकायत पर धारा 174 की कार्रवाई कर जांच शुरू कर दी है.

यह भी पढ़े -   प्रेमिका से मिलने आए प्रेमी की बेरहमी से हत्या, सड़क किनारे मिला शव

गांव रिसालवा निवासी मृतक बच्चों के चाचा अनिल ने बताया उसके भाई सुनील की करीब 6 साल पहले मौत हो गई थी. उसकी भाभी पूनम अपने दो बच्चों के साथ रह रही थी. उसका बड़ा भतीजा सागर 11 साल का था जो छठी कक्षा में पढ़ता था और 9 साल का प्रतीक जो चौथी कक्षा में पढ़ता था.

सोमवार शाम को उनकी मां पूनम ने चावल व आलू की सब्जी बनाई थी और वही उन्होंने खाई. रात करीब 12 बजे प्रतीक की तबीयत बिगड़ गई, उसके पेट में दर्द हो गया तथा उल्टियां आने लगी. इसके बाद सागर की भी तबीयत बिगड़ गई. इन दोनों को असंध के एक प्राइवेट अस्पताल में ले जाया गया तो वहां पर डॉक्टरों ने सागर को मृत घोषित कर दिया.

यह भी पढ़े -   मां की लाश देख बेटे ने काट ली हाथ की नस, हालत गंभीर

प्रतीक को डॉक्टर ने इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया . कुछ समय बाद दोबारा प्रतीक की तबीयत बिगड़ गई और फिर से उसे डॉक्टर के पास लेकर गए तो डॉक्टर ने उसे करनाल रेफर कर दिया. कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज उसकी मौत हो गई. इन बच्चों की मां पूनम को भी डॉक्टरों ने करनाल रेफर कर दिया था. इसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

यह भी पढ़े -   नमाज के जवाब में भजन कीर्तन, आखिर क्यों उबल रहा है गुरुग्राम का यह इलाका

मिड डे मील का स्टॉक सील

मृतक दोनों बच्चे अलग-अलग स्कूल में पढ़ते थे. सागर सालवन और प्रतीक गांव के ही स्कूल में पढ़ता था. 8 जुलाई को प्रतीक मिड डे मील से सूखे चावल लेकर आया था. दूसरा लड़का सागर जो अभी तक स्कूल ही नहीं गया था. प्राप्त सूत्रों के अनुसार सूचना मिली है कि मिड डे मील के चावलों पर आशंका जताई जा रही है.

इस कारण गांव के प्राइमरी स्कूल व सालवन के स्कूल का मिड डे मील स्टॉक सील कर दिया गया है. उच्च अधिकारियों के निर्देश पर आगामी कार्रवाई की जाएगी. हालांकि और भी बच्चे चावल लेकर गए थे, लेकिन किसी की कोई शिकायत नहीं मिली है. – राजकुमार, बीईओ असंध

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!