हरियाणा बिजली वितरण निगम ने लाइन लास किया कम, 234 करोड का मुनाफा

Casino

कुरुक्षेत्र । उतरी हरियाणा बिजली वितरण निगम ने अधिकारियों व कर्मचारियों की मेहनत से 234 करोड का मुनाफा कमाया है. पिछले 3 सालों से संस्थान लाभ दे रहा है. इसके साथ लाइन लास घटाकर 14 फीसद तक आ गया है. जिले में यह 18.56 फीसद है.

Electricity Board5

उतरी हरियाणा बिजली वितरण निगम ने वीरवार को जिमखाना क्लब में 22वें स्थापना दिवस मनाया. जिसकी अध्यक्षता एसई केएस भौरिया ने की. इससे पहले एक्सईएन राजीव आनंद, एक्सईएन हिमांशु पवार, एक्सईएन नसीब सिंह, एक्सईएन एमएए धीमान, सेवानिवृत्त निदेशक डीके महेश्वरी, सेवानिवृत्त चीफ इंजीनियर सुभाष गुप्ता व ज्ञानचंद ने विधिवत रूप से कार्यक्रम का शुभारंभ किया.

एसई केएस भौरिया ने कहा है कि एचवीपीएन से 1 जुलाई 1999 को अलग कर यूएचबीवीएन की स्थापना की गई. इसको एक अलग संस्थान का दर्जा दिया गया. इसके सार्थक परिणाम आज सबके सामने है.

यह भी पढ़े -   HSSC ने पीजीटी पदों के लिए शिक्षा विभाग से मांगी जानकारी, जल्द शुरू होगी भर्ती प्रक्रिया

24 को किया सम्मानित

इस कार्यक्रम में 24 अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया गया था. इनमें जेई सुखजिंद्र शर्मा, जेई नरेश कुमार, सहायक हेमंत शर्मा, जेई गुरमेल सिंह, जेई आकाशदीप, एलएम मनजीत सिंह व तेजवीर, एएलएम कृष्ण लाल, सोनू सिंह, एएफएम रणजीत सिंह, बूटा सिंह, एलएम दीपक कुमार, दिलबाग सिंह, सतीश कुमार, एएलएम प्रवीण कुमार, गोपाल दास, मदनलाल व एलएम सतीश कुमार, एलडीसी पूनम रानी, एलएम मुकेश, एलएम दिनेश कुमार, गुरुदर्शन, एएलएम पंकज व एएलएम पंकज रहे.

यह भी पढ़े -   दिल्ली से जुड़ेगा हिसार एयरपोर्ट, बनाया जाएगा 180 किलोमीटर लंबा हाइस्पीड रेलवे ट्रैक

35 से 14 फीसद तक लाइन लास

यूएचबीवीएन ने सरकार की पारदर्शी प्रणाली और अधिकारियों और कर्मचारियों की मेहनत से लाइन लास को कम किया है. पहले यह 35 फीसद थी. अब इसको कम कर 14 फीसद पर लेकर आए हैं. हर यूनिट के लाइन लास को बचाने से सरकार को फायदा होता है.

यह भी पढ़े -   PM मोदी ने 'Mann ki Bat' में की एक रेहड़ी वाले की तारीफ, जानें वजह

एचटी लाइन 5511 से बढ़कर 8451 किलोमीटर

एसई भौरिया ने बताया कि 1999 में जिले में 33 केवी के 8 सब स्टेशन थे. अब इनकी संख्या 35 हो गई है. इसी तरह एचटी लाइन 5511 किलोमीटर से 8451 किलोमीटर हो गई है. वर्ष 1999 में 14297 ट्रांसफार्मर स्थापित किए गए थे. अब इनकी संख्या बढ़कर 42,474 हो गई है. कुरुक्षेत्र सर्कल में 1999 में लाइन लास 55 फीसद था. अब यह घटकर 18.57 फीसद हो गया है. इसके अलावा यूएचबीवीएन ने 300 पेड़ लगाए हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!