15 मई से पहले धान की बिजाई ना करें किसान, वर्ना होगी कार्रवाई

कुरुक्षेत्र । डॉ प्रदीप कुमार( खंड कृषि अधिकारी, पिहोवा ) ने बताया कि किसान रबी फसल गेहूं कटाई एवं भूसा आदि कार्यों से निपटने के बाद अगली फसल की तैयारियां करने के लिए खेत की जुताई ,बुवाई जैसे कामों में जुट गए हैं. इसके अन्तर्गत धान की नर्सरी संबंधित तैयारियां भी शामिल है.

peddy dhan
इस दौरान किसानों को धान की पनीरी की बिजाई से पहले सरकार द्वारा दी गई समय सीमा को ध्यान में रखना होगा क्योंकि दी हरियाणा प्रिजर्वेशन ऑफ सब साइल वाटर एक्ट 2009 कानून के तहत कोई भी किसान 15 मई से पहले धान की पनीरी की बिजाई नहीं शुरू कर सकता है.साथ ही 15 जुन से पहले धान की रोपाई नहीं कर सकता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में फिर बढ़ा लॉकडाउन, जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

यदि कोई भी किसान सरकार द्वारा निर्धारित तय समय सीमा को नजरंदाज कर कानून का पालन नहीं करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है. इसके अन्तर्गत किसान को 10,000 रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया है. खंड अधिकारी प्रदीप कुमार ने पिहोवा के सभी किसानों से अपील करते हुए कहा है कि वे इस कानून का पालन करते हुए 15 मई से पहले धान की पनीरी न लगाएं और 15 जून से पहले धान की रोपाई ना करें. कानून की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!