हरियाणा रोडवेज बसों में अब नहीं होगी टिकटों की हेराफेरी, सरकार ने लिया यह बड़ा फैसला

कुरुक्षेत्र | हरियाणा रोडवेज हरियाणा के लोगों का हर सफर का साथी है. रोडवेज की ये बसें पूरे हरियाणा को जोड़ने का काम करती है और रोजाना हजारों की संख्या में लोग इन बसों में सफर करते हैं. लेकिन कई बार हरियाणा रोडवेज की बसों में टिकटों को लेकर गड़बड़ी की खबरें सामने आती है, जिन्हें खत्म करने के लिए हरियाणा सरकार बड़ा फैसला लिया है.

ROADWAYS BUS

हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा, हमारे सामने कई बार हरियाणा परिवहन की बसों में टिकटों की हेराफेरी और गड़बड़ी की शिकायतें आई है तथा परिवहन विभाग के भीतर भी भ्रष्टाचार के मामले देखने को मिले हैं. इन्हीं सब धांधलियों पर नकेल कसने के लिए अब हरियाणा परिवहन विभाग ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाने का फैसला लिया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार इन महिलाओं को करेगी सम्मानित, 18 अक्टूबर तक करे आवेदन

मूलचंद शर्मा ने कहा कि टिकटों में गड़बड़ी और धांधली को रोकने के लिए हम पूरे प्रदेश में रोडवेज बसों के अंदर ई-टिकटिंग (E-Ticket) प्रणाली शुरू करने जा रहे हैं, इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है. ई -टिकटिंग से न भ्रष्टाचार होगा और ना कोई चोरी हो सकेगी और रोजाना टिकटों से जितनी आमदनी विभाग को होगी वह सीधे बैंक में भी जमा हो जाएगी. ई -टिकटिंग होने से लूट होने की संभावना भी खत्म हो जाएगी.

मंत्री ने कहा कि रोडवेज बसों में से होने वाली कमाई सुरक्षित रहेगी और आने वाली हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक में हम ई टिकटिंग मशीन खरीद के मामले को एजेंडा में रखने जा रहे हैं. ई- टिकटिंग प्रणाली हरियाणा रोडवेज की सभी बसों में लागू होगी चाहे ई- टिकटिंग के लिए जल्दी हरियाणा रोडवेज के कंडक्टर की ट्रेनिंग भी करवाई जाएगी. अभी हमने सवारी के अनुसार बसें चलाने के आदेश दे दिए हैं. गाइडलाइंस का पालन करते हुए सभी बसें चलाई जाएंगी. मूलचंद शर्मा ने कहा हरियाणा रोडवेज लाभ कमाने का काम नहीं है यह हमेशा से ही घाटे का काम रहा है लेकिन लोगों को यह सुविधा जारी रखी जाएगी.

यह भी पढ़े -   किसानों ने जलाई पराली, चालान काटने आएं पटवारी और उसके साथियों को बनाया बंधक

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने सरकार के इस प्रयोग को मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा विभागों के शुद्धिकरण की मुहिम का नाम दिया है. बता दें कि कुछ समय पहले हरियाणा सरकार ने परिवहन विभाग में आइपीएस और एचपीएस अधिकारियों की नियुक्ति करने का फैसला लिया था. प्रदेश के परिवहन बेड़े में इस समय 4887 बसें चल रही हैं. इनमें 3400 बसें रोडवेज की हैं. इनके अलावा 150 बसें मिनी, 510 बसें प्रति किलोमीटर के हिसाब से किराये पर ली गई हैं, जबकि 18 बसें वोल्वो है. 809 बसें नई आएंगी, जिनकी बाडी बनकर तैयार है. इनके अगले दो माह के भीतर परिवहन बेड़े में शामिल होने की संभावना है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!