Breakfast Recipe: सुबह के समय ये 7 हेल्दी डाइट्स शरीर को देते हैं गजब के फायदे, यहाँ पढ़े पूरी अपडेट

लाइफस्टाइल डेस्क, Breakfast Recipe | सुबह का समय हर कोई हल्का- फुल्का खाना पसंद करता है. ऐसे में आपको सुबह के समय शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए हेल्दी डाइट की जरुरत होती है. आज हम आपको ऐसे कुछ ऐसी डाइट के बारे में बताएंगे जो आपके शरीर के लिए काफी फायदेमंद है. जिन्हें अपनाकर आप अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं.

Breakfast Nashta

कुट्टू का परांठा

यह परांठा भारत के लोकप्रिय व्यंजनों में से एक है. ज्यादातर घरों में हर रविवार सुबह के नाश्ते में पराठा बनाया जाता है. आप पत्ता गोभी, आलू, प्याज और मटर के पराठे भी बना सकते हैं. हर परांठे का अपना अलग स्वाद होता है, लेकिन अब आप व्रत के दौरान भी स्वादिष्ट परांठे का लुत्फ उठा सकते हैं. जी हाँ, अब आप कुट्टू के आटे से स्वादिष्ट पराठा बनाकर व्रत में खा सकते हैं.

कुट्टू का पराठा बनाने के लिए सामग्री

परांठे को कुरकुरा बनाने के लिए बर्तन में कुट्टू का आटा और चीनी सिंघाड़ा का आटा मिला दिया जाता है. आप नवरात्रि के व्रत के अलावा अन्य व्रतों में भी कुट्टू पराठा खा सकते हैं. आप चाहें तो इसे दही के साथ भी खा सकते हैं.

काले चने की चाट

काले चने में विटामिन ए, बी, सी, डी, फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं. चने में भरपूर मात्रा में आयरन होता है जो शरीर में खून की कमी को दूर करता है. इतना ही नहीं इसके सेवन से कब्ज जैसी समस्या भी दूर हो जाती है. वैसे चने का सेवन आप किसी भी रूप में कर सकते हैं, यह आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. लेकिन, अगर आप रोजाना एक ही तरह से चने बनाकर बोर हो गए हैं तो चना चाट की यह रेसिपी जरूर ट्राई करें.

यह भी पढ़े -   मोदी सरकार ने त्योहारी सीजन से पहले आम लोगों को दिया बड़ा तोहफा, पढ़ें ये खबर

काले चने की चाट बनाने की सामग्री

  • 1 कप काले चने 4-5 घंटे के लिए भिगो कर रख दें
  • 1/4 कप हरा धनिया कटा हुआ
  • हरी मिर्च कटी हुई
  • 1 कप प्याज कटा हुआ
  • 1 कप उबले आलू कटे हुए
  • नमक स्वादअनुसार
  • 2 चम्मच चाट मसाला
  • 1 छोटा चम्मच पिसा हुआ जीरा
  • स्वादानुसार नींबू का रस

ऐलोवेरा

अगर आपको त्वचा संबंधी समस्या है या सुबह उठने के बाद आपका पेट साफ नहीं हो रहा है तो आप एलोवेरा का जूस जरूर पीएं. इससे न सिर्फ त्वचा में निखार आता है बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है. यह कैल्शियम, जस्ता, तांबा, पोटेशियम, लोहा, सोडियम, मैग्नीशियम, क्रोमियम और मैंगनीज से समृद्ध है.

एलोवेरा जूस बनाने के लिए सबसे पहले आपको एक गिलास लेना होगा. इसमें आप एलोवेरा जेल, पानी, नमक, भुना जीरा और पुदीना छोड़ दें और इसके बाद इसे मिलाएं. उसके बाद, आप इसे पी सकते हैं.

यह भी पढ़े -   Air India ने दिया बुजुर्गों और छात्रों को बड़ा झटका, किराये में कम की गई छूट

डोसा

डोसा एक बहुत ही आसानी से बनने वाली डिश है. लेकिन यह डोसा का एक स्वस्थ संस्करण है जिसे आमतौर पर दो दाल और चावल के मिश्रण से बनाया जाता है. रागी डोसा ग्लूटेन फ्री होने के अलावा फाइबर, आयरन, कैल्शियम और दूसरे मिनरल्स से भरपूर होता है.

बनाने की रेसिपी

रागी का आटा, चावल का आटा, दही, नमक, हरा धनिया, हरी मिर्च और प्याज़ मिला लें. आवश्यकतानुसार पानी डालकर घोल बना लें और 2 घंटे के लिए अलग रख दें. तेल गरम करें और तड़के के लिए सभी सामग्री डालें. जब राई चटकने लगे तो घोल डालें. एक नॉन स्टिक पैन गरम करें और उस पर तेल डालकर हल्का गरम करें. गरम होने पर एक चम्मच घोल डालिये, गोल घुमाते हुये पतला डोसा बनाइये और एक तरफ से पका लीजिये. पकाते समय इसके किनारों पर थोड़ा सा तेल डालें. जब यह दोनों तरफ से सिक जाए तो इसे गर्मागर्म सर्व करें.

यह स्वादिष्ट दक्षिण भारतीय व्यंजन सूजी से बनाया जाता है. इसे लोग अक्सर सुबह के नाश्ते में खाना पसंद करते हैं. यह खाने में सेहतमंद होता है. रवा उपमा बनाना बहुत ही आसान है.आप चाहें तो इसे शाम की चाय के साथ बनाकर खा सकते हैं.

यह भी पढ़े -   आज से बदल गए यह 6 जरूरी नियम, आम लोगों पर पड़ेगा प्रभाव

रवा उपमा बनाने के लिए सामग्री

रवा उपमा बनाने में आपको सिर्फ 30 मिनट का समय लगेगा. इसे बनाना बहुत ही आसान है, बस इसमें सूजी, प्याज, घी, सरसों, चने की दाल और नमक डालकर आप इसे कभी भी बनाकर खा सकते हैं. इतना ही नहीं इसे आप बच्चों के लंच में भी पैक कर सकते हैं.

नीम की चाय

नीम की चाय एक कड़वी हर्बल चाय है जिसका उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है. नीम हमारी कई तरह से मदद करता है. इसके दांत जहां दांतों को साफ और स्वस्थ रखने में उपयोगी होते हैं वहीं नीम के तेल का इस्तेमाल सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है. इसी तरह नीम की चाय भी कई तरह से फायदेमंद होती है.

इसके अलावा, कुछ लोग घाव और त्वचा की अन्य समस्याओं में भी नीम का इस्तेमाल करते हैं. वहीं, नीम की चाय के फायदे भी कम नहीं हैं. नीम शरीर में बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में कारगर है. नीम की चाय सांसों की दुर्गंध को दूर करती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!