हरियाणा का पहला ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे 152-D बनकर तैयार, नारनौल से चंडीगढ़ का सफर होगा 4 घंटे में पूरा

नारनौल | हरियाणा के लोगों को बहुत जल्द प्रदेश के पहले ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे की सौगात मिलने जा रही है. एडवांस ट्रैफिक सिस्टम युक्त 227 किलोमीटर लंबे इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे को सपनों का एक्सप्रेस-वे कहा जा रहा है. ट्रायल के तौर पर इस हाइवे पर वाहनों का आवागमन शुरू हो चुका है और बहुत जल्द प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका उद्घाटन करने हरियाणा आएंगे. इस एक्सप्रेसवे के शुरू होने से नारनौल से चंडीगढ़ का सफर मात्र 4 घंटे में तय हो सकेगा.

Four Lane Highway

बता दें कि नारनौल से इस्माईलाबाद तक बनाएं गए इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे की घोषणा 2018 में भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत की गई थी और केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 14 जुलाई 2020 को इसका शिलान्यास किया था. ग्रीन कॉरिडोर 152-D नाम के इस हाइवे पर कुल 14 एंट्री व एग्जिट प्वाइंट बनाए गए हैं.

हाइटेक सुविधाएं होंगी उपलब्ध

इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे पर अधिकतम रफ़्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा निर्धारित की गई है. इससे अधिक रफ्तार से वाहन दौड़ाने पर आटोमेटिक चालान कटकर घर पहुंच जाएगा. हाइवे पर हर एक किलोमीटर पर हाइटेक सिक्योरिटी से लैस सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. अगर हाइवे पर कही एक्सीडेंट होता है तो इन कैमरों से तुरंत पता चल जाएगा. ये कैमरे नजदीकी कंट्रोल रूम से जुड़े होंगे और वही से तुरंत एंबुलेंस को सूचित किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   CBSE की 10वीं और 12वीं कंपार्टमेंट की परीक्षा इस दिन से शुरू, देखें शेड्यूल

इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे पर दो ट्रामा सेंटर होंगे. इनमें एक असंध के नजदीक और दूसरा महेन्द्रगढ़ जिलें में गांव खेड़ी के पास बनाया जाएगा. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) द्वारा इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे पर छह जगहों पर 2-2 एकड़ जमीन लेकर वहां पर रेस्टोरेंट, पेट्रोल- पंप, सर्विस स्टेशन आदि बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है. इस एक्सप्रेसवे की खास बात यह है कि यह किसी भी शहर, गांव, कस्बे को टच नहीं कर रहा है. खेतों के बीचोबीच से गुजरने वाले इस हाइवे की खूबसूरती हर किसी के मन को मोह लेगी.

यह भी पढ़े -   पशुओं में रोजाना फैल रही बीमारियों से है बचना, तो दूध का ऐसे करें उपयोग

जितना दूर चलेगा, उतना ही लगेगा टैक्स

इस एक्सप्रेसवे पर टोल नाकों से ही एंट्री- एग्जिट करना होगा. यानि आप इस हाइवे पर जितना सफर करेंगे, उतना ही आपसे टोल लिया जाएगा. कार-जीप व छोटे वाहनों के लिए टोल के 335 रुपये, कमर्शियल वाहनों के लिए 540, बस व ट्रक के लिए 1135, 3 एक्सल वाले कामर्शियल वाहनों के लिए 1235, मल्टीएक्सल या 4 से 6 एक्सल के वाहनों के लिए 1775 और ओवरसाइज या 7 से अधिक एक्सल वाले वाहनों के लिए 2165 रुपये एक तरफ के वसूले जाएंगे.

इन 14 स्थानों पर Entry- Exit प्वाइंट

1.अटेली- महेंद्रगढ़ रोड पर गांव भालखी

यह भी पढ़े -   हो जाएं सावधान! चप्पल पहन कर बाइक चलाने पर कटता है इतने का चालान

2. महेंद्रगढ़-कनीना स्टेट हाईवे – 24 पर गांव बुचावास के पास

3.नेशनल हाईवे 334 बी चरखी दादरी- झज्जर पर गांव दादरी समसपुर चौक

4. नेशनल हाईवे- 709 भिवानी- रोहतक पर गांव खेरड़ी

5. नेशनल हाईवे- 9 महम-रोहतक पर गांव खरकड़ा व बलंभा

6. महम लाखन माजरा स्टेट हाईवे 16- ए पर गांव निंदाना या बैंसी

7. नेशनल हाईवे- 352 पर गांव किला जफरगढ़

8.जींद-गोहाना-ग्रीनफील्ड हाईवे पर ललित खेड़ा

9.जींद- सफीदों स्टेट हाईवे- 14 पर गांव अमरावली खेड़ा

10.जींद-नगूरा-असंध स्टेट हाईवे- 12 पर गांव बाहरी गंगनथेड़ी

11. कैथल- राजोंद- असंध स्टेट हाईवे–11 पर गांव खेड़ी सर्राफ अली

12. कैथल-करनाल स्टेट हाईवे- 8 पर गांव मोहना

13. पिहोवा-कौल- करनाल स्टेट हाईवे- 33 पर गांव चंदलाना कौल

14. पिहोवा थानेसर स्टेट हाईवे-6 पर गांव मुर्तजापुर में पहला एंट्री व एग्जिट पॉइंट होगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!