अब इस दिग्गज पहलवान ने देश को किया शर्मशार, छत्रसाल स्टेडियम से हैं गहरा नाता

नई दिल्ली ।  कुश्ती जगत से एक और भारतीय पहलवान ने देश को शर्मशार करने का काम किया है. पिछले महीने ही टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करने वाले भारतीय पहलवान सुमित मलिक डोपिंग टेस्ट में फेल पाएं गए हैं. फिलहाल उन्हें अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया गया है. कुश्ती जगत से लगातार इस तरह की खबरें मिलने से हर कोई हतप्रभ हो रहा है. अभी कुछ दिन पहले ही ओलम्पिक चैम्पियन सुशील कुमार सागर धनखड़ हत्याकांड में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए थे. खास बात यह है कि सुशील कुमार की तरह ही सुमित मलिक का भी छत्रसाल स्टेडियम से गहरा लगाव है.

यह भी पढ़े -   देखे तस्वीरे: पंजाब की तर्ज पर हरियाणा के किसानों ने भी तैयार की ट्रॉलियां, गर्मी के लिए बनाए मूविंग होम

SUMIT MALIK

गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में 28 वर्षीय सुमित ने स्वर्ण पदक जीतकर पिछले महीने ही पहली बार ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था. बुल्गारिया में क्वालीफायर के दौरान डोप परीक्षण में विफल रहने पर उन्हें अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया गया है. टोक्यो ओलम्पिक खेलों के शुरू होने से कुछ सप्ताह पहले देश के लिए यह खबर बेहद शर्मिंदगी भरी हैं. यह ओलम्पिक शुरू होने से पहले लगातार दूसरा मौका है जब डोपिंग का मामला सामने आया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले 2016 रियो ओलंपिक शुरू होने के कुछ सप्ताह पूर्व नरसिंह यादव भी डोप टेस्ट में फेल हो गए थे जिसकी वजह से उन पर चार साल का बैन लगा दिया गया था.

2018 राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता सुमित मलिक ने बुल्गारिया प्रतियोगिता में 125 किलोग्राम भार वर्ग में टोक्यो ओलम्पिक का टिकट पक्का किया था,जो पहलवानों के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल करने का आखिरी मौका भी था. इस मामले के बाद 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों में शामिल होने का सुमित का सपना लगभग खत्म हो गया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!