दिल्ली- फरीदाबाद के बीच आवाजाही करने वाले जान लें नया रूट, 60 दिन तक बंद रहेगा सरिता विहार फ्लाईओवर

नई दिल्ली | राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से फरीदाबाद (Delhi to Faridabad) के बीच सफर करने वाले लोगों के लिए एक जरूरी खबर सामने आई है. बता दें कि इस रूट पर स्थित सरिता विहार फ्लाईओवर को मरम्मत कार्य के चलते आगामी 15 जून से बंद किया जा रहा है. 2 महीने तक चलने वाले इस मरम्मत कार्य को 4 चरणों में पूरा किया जाएगा. हर चरण में फ्लाईओवर के केवल आधे हिस्से को 15- 15 दिन के लिए बंद किया जाएगा. ट्रैफिक पुलिस ने कुछ शर्तों के साथ पीडब्ल्यूडी विभाग को इस संबंध में एनओसी जारी कर दी है.

Smart Sadak Road

4 चरणों में पूरा होगा काम

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बताया कि सरिता विहार फ्लाईओवर पर 15 जून से शुरू हो रहे मरम्मत कार्य को 4 चरणों में पूरा किया जाएगा. इसके चलते एक समय पर पूरा फ्लाईओवर बंद नहीं होगा. केवल एक साइड में फ्लाईओवर की आधी लेन बंद रहेगी जबकि आधी लेन पर ट्रैफिक चलता रहेगा.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पहले चरण में आश्रम से फरीदाबाद की ओर जाने वाली साइड पर काम होगा. दूसरे चरण में इसी दिशा के बचे हुए आधे फ्लाईओवर की मरम्मत होगी. तीसरे और चौथे चरण में फरीदाबाद से आश्रम जाने वाली साइड पर मरम्मत कार्य किया जाएगा.

ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी ने बताया कि सरिता विहार फ्लाईओवर पर मरम्मत कार्य के चलते सरिता विहार, बदरपुर, न्यू फ्रेंड्स कालोनी, कालिंदी कुंज, ओखला और फरीदाबाद के लिए आवाजाही करने में परेशानी झेलनी पड़ सकती है. पुलिस ने वाहन चालकों से अपील की है कि बिना किसी जरूरी काम के वो कुछ दिन इस रूट पर निकलने से परहेज़ करें.

वैकल्पिक रूट

आश्रम से फरीदाबाद जाने की दिशा में

  • आश्रम चौक से बदरपुर एवं फरीदाबाद जाने वाले सरिता विहार स्लिप रोड़ से रोड़ संख्या 13A का इस्तेमाल कर आगे से यू-टर्न लेकर मथुरा रोड के रास्ते सफर कर सकेंगे.
  • आश्रम से नोएडा आने वाले वाहन चालक रिंग रोड से डीएनडी फ्लाईओवर का इस्तेमाल कर सकते हैं.

बदरपुर बार्डर से आश्रम जाने की दिशा में

  • बदरपुर से आश्रम जाने के लिए सरिता विहार फ्लाईओवर स्लिप रोड़ से ओखला एस्टेट मार्ग, क्राउन प्लाजा होते हुए जा सकेंगे.
  •  बदरपुर से महरौली- बदरपुर रोड़ का इस्तेमाल कर आश्रम तक पहुंच सकते हैं.

ट्रैफिक पुलिस करेगी ये बंदोबस्त

  • रोड नंबर 13A पर बने यू- टर्न को चौड़ा करना होगा, जिससे वाहन आसानी से मुड़ सकें.
  • ट्रैफिक परिचालन में सहयोग के लिए 20 मार्शल एक शिफ्ट में लगाने होंगे.
  • मरम्मत से जुड़ी साइनेज बोर्ड के साथ उचित लाइट की व्यवस्था करनी होगी.
  • दिन के समय यहां भारी मशीन को लाने की अनुमति नहीं होगी.
  • मरम्मत कार्य के दौरान किसी भी प्रकार के मलबे को सड़क पर रखने की बजाय तुरंत प्रभाव से उठाने की व्यवस्था होगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!