जानिये, कौन सा बैंक दे रहा है FD पर बेहतरीन ब्याज दरे

नई दिल्ली । बैंकों की FD दरों में बदलाव होता रहता है. बता दें कि  आरबीआई की मौद्रिक नीति जैसे कि रेपो दर, आधार दर आदि की आंतरिक तरलता स्थिति व आर्थिक स्थिति और ऋण मांग के स्तर में बदलाव से दरे निर्धारित होती है. वहीं फिक्स डिपाजिट की ब्याज दरें भी जमा राशि, जमा कार्यकाल और जमा कर्ता के प्रकार के आधार पर बदलती है.

PAISE RUPAY

आप एक निश्चित अवधि के लिए बैंक में 7 दिन से लेकर 10 वर्ष तक की अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं. विभिन्न बैंकों द्वारा अलग-अलग एफडी दरों की पेशकश की जाती है. वर्तमान में जन लघु वित्त बैंक 7.25% तक की सावधि जमाओ पर सबसे अधिक लाभ प्राप्त होता है. आप भी 7 दिनों से लेकर 10 साल के कार्यकाल के लिए जना स्मॉल फाइनेंस बैंक एफडी में निवेश कर लाभ उठा सकते हैं. वहीं वरिष्ठ नागरिकों को सावधि जमा पर 7.75% ब्याज दर प्रदान की जाती है.

3 साल की अवधि के लिए सबसे अधिक एफडी दरों वाले बैंकों की सूची

नियमित ब्याज दर (प्रति वर्ष)   वरिष्ठ नागरिक ब्याज दर (प्रति वर्ष)

  • फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक6.90%     7.40%
  • KTDFC8.00%      8.25%
  • श्रीराम सिटी7.86%      8.26%
  • महिंद्रा फाइनेंस6.30%      6.55%
  • सुंदरम फाइनेंस6.25%      6.75%
  • लक्ष्मी विलास बैंक (LVB)6.00%     6.50%
  • आईसीआईसीआई होम फाइनेंस6.10%    6.35%
  • यस बैंक (विशेष दरें)7.00%      7.75%
  • आईसीआईसीआई बैंक5.15%    5.65%
  • एचडीएफसी बैंक5.30%             5.80%
यह भी पढ़े -   हरियाणा की इस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रचा इतिहास, पशुओं के लिए तैयार की पहली कोविड-19 वैक्सीन

एफडी करवाने के फायदे

  • आप की जमा राशि पर आपको रिटर्न में यह आश्वासन दिया जाता है कि बाजार में उतार-चढ़ाव का इस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.
  • एनबीएफसी द्वारा दी जाने वाली एफडी ब्याज दरें बैंकों द्वारा जारी की जाने वाली एफडी दरों से भी अधिक है.
  • फिक्स डिपाजिट को आसानी से रिन्यू किया जा सकता है. साथ ही आप डिपॉजिट को रिन्यू करने पर अतिरिक्त बेनिफिट भी प्राप्त कर सकते हैं.
  • आयकर अधिनियम 1961 के अनुसार फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज से, स्रोत पर कर काटा जाता है.
  • कुछ फाइनेंसर वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी उच्च एफडी ब्याज दर प्रदान करते हैं.
  • आप अपने मासिक खर्चों का प्रबंधन करने में मदद करने के लिए भी आवधिक ब्याज भुगतान का विकल्प चुन सकते हैं.
यह भी पढ़े -   सरकारी कामकाज को लेकर केंद्र सरकार ने जारी किए नए दिशानिर्देश, इन चीजों के उपयोग पर लगाया प्रतिबंध

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!