दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों के लिए जरूरी खबर, जानिए मेट्रो पर क्या पाबंदियां हुई लागू

नई दिल्ली | दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक जरूरी सूचना है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए ग्रेडेड एक्शन रिस्पांस प्लान लागू हो गया है. जिसके कारण अब फिर पहले की तरह यात्री बुधवार सुबह से ही एक सीट छोड़कर ही बैठ रहे हैं. इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो के कोच में खड़े होकर यात्रा करने की भी अनुमति नहीं है ऐसे में लोग सिर्फ बैठकर यात्रा कर सकते हैं वही सभी मेट्रो स्टेशन पर औसतन दो गेट खुले हैं इससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

Metro Rail Image

जानिए एक कोच में कितने यात्री कर रहे सफर

मेट्रो के एक कोच में तकरीबन 50 यात्रियों के लिए बैठने की सीट होती है यानी 8 कोच की मेट्रो में 400 यात्री सीट पर बैठकर सफर कर सकते हैं क्योंकि अब 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ मेट्रो चल रही है ऐसे में आठ कोच में 200 और 6 कोच में 150 यात्री सफर कर पा रहे हैं. वैसे खड़े होने के लिए जगह अधिक होती है. लेकिन तकरीबन 350 यात्रियों के सफर करने की क्षमता होती है. इस लिहाज से मेट्रो का परिचालन करीब 5% क्षमता से ही हो रहा है.

मंगलवार से लागू हो गए थे निर्देश

बता दें कि ग्रेप का निर्देश मंगलवार से लागू हो गया है किंतु मेट्रो में शाम को भी यात्रियों ने खड़े होकर सफर किया इससे पहले दिन मेट्रो में गरीब के नियमों का पालन नहीं हुआ बुधवार से इसका पालन शुरू हो गया है.
अभी बता दे कि दिल्ली मेट्रो रेल निगम के जनसंपर्क कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने बताया है कि बैठने की 50% क्षमता के साथ मेट्रो का परिचालन होगा. इसके मद्देनजर सभी दिशा निर्देश का पालन करने के लिए मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों के प्रवेश को भी नियंत्रित किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   शादी के कार्ड पर पढ़ने को मिल रहा है कुछ नया, इस तरह लोगो तक पहुंचाए जा रहे हैं ये संदेश

50% क्षमता के साथ चलेगी मेट्रो

आपको बता दें कि दूसरी लहर के दौरान मेट्रो का परिचालन बिल्कुल बंद हो गया था. 7 जून को मेट्रो का परिचालन शुरू हुआ तब से 50% बैठने की क्षमता के साथ मेट्रो का परिचालन शुरू किया गया था. मेट्रो प्राधिकरण ने 22 नवंबर से 100% क्षमता के साथ प्रत्येक कोच में 30 यात्रियों के खड़े होने को स्वीकृति दे दी गई थी उस दिन से सभी गेट खोल दिए गए थे. लेकिन अब करुणा के संक्रमण को देखते हुए फिर से मेट्रो को 50% बैठने की क्षमता के साथ चलाया जाएगा. जिसके कारण मेट्रो स्टेशनों पर एक या दो गेट खुले हुए हैं. यात्रा करने वाले यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!