हरियाणा में 22 हजार शिक्षकों की एक जनवरी से स्कूलों में नहीं होगी एंट्री, जानें क्या है वजह

पंचकूला । कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने देश-दुनिया में फिर से खौफ पैदा कर दिया है. दुनिया के कई देशों ने इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पाबंदियां शुरू कर दी है. भारत सरकार ने भी तमाम राज्यों को सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं. केन्द्र सरकार के निर्देशानुसार हरियाणा सरकार ने भी रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है और इसके साथ ही कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाना अनिवार्य किया हुआ है लेकिन सूबे के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक ही वैक्सीनेशन नहीं करा रहे हैं.

Teacher

मिली जानकारी अनुसार प्रदेश के सरकारी स्कूलों के 21 हजार 816 शिक्षक ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है. अब सरकार की सख्ती के चलते ऐसे में इन शिक्षकों की पहली जनवरी से स्कूलों में एंट्री नहीं हो पाएगी. बता दें कि सूबे के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सख्त निर्देश जारी किए हैं कि जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगवाई है, उन्हें एक जनवरी से सार्वजनिक जगहों पर प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी.

आंकड़ों के अनुसार प्रदेश के 22 जिलों में 14 हजार 159 सरकारी स्कूल हैं. इन स्कूलों में शिक्षकों की संख्या एक लाख चार हजार 123 है. इनमें से 28 हजार 232 ऐसे शिक्षक हैं, जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की पहली ही डोज ली है. 54 हजार 75 ऐसे शिक्षक हैं, जो दोनों डोज ले चुके हैं. सरकार नियमों में ढिलाई करते हुए उन शिक्षकों को तो स्कूल में एंट्री करने की अनुमति दें सकती है, जिन्हें पहली डोज लग चुकी है लेकिन जिन शिक्षकों ने अभी तक एक भी डोज नहीं लगवाई है उन्हें प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएंगी.

यह भी पढ़े -   सरसों तेल व रिफाइंड ऑयल के भाव में एक बार फिर आई तेजी, जानें कब तक घटेंगे रेट

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ वीणा ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के आदेशों पर कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की गई है. जिन लोगों ने अब तक कोरोना वैक्सीन की एक भी डोज नहीं ली है, एक जनवरी से उनकी सरकारी ऑफिस व सार्वजनिक जगहों पर प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी. इनमें सरकारी अधिकारी व कर्मचारी भी शामिल हैं. स्कूल शिक्षा महानिदेशक जी गणेशन ने कहा कि सरकार द्वारा जारी नई गाइडलाइंस से सभी जिला शिक्षा व मौलिक शिक्षा अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है. शिक्षकों को जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाने के लिए कहा गया है. इसके बाद भी अगर शिक्षक इन आदेशों की अवहेलना करते हैं तो उनके खिलाफ सख्ती बरती जाएगी.

यह भी पढ़े -   कपास के भाव में तेजी से किसानों के चेहरों पर खुशी, जानें आज हरियाणा मंडियों में भाव

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के निर्देशों के बाद स्वास्थ्य विभाग भी वैक्सीनेशन मुहिम को तेजी से आगे बढ़ा रहा है. लोगों की सुविधा के लिए जगह-जगह वैक्सीनेशन कैंप लगाएं जा रहें हैं. ‘हर घर दस्तक’ कार्यक्रम के तहत लोगों को घर-घर जाकर कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा रही है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!