बिजली बिल ठीक करवाने के लिए अब नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, इस नंबर पर फोन करते हीं दूर होगी समस्या

पंचकूला । बिजली निगम के बिल प्रणाली सिस्टम से हर कोई पर परेशान हैं और इसके चलते उपभोक्ताओं को कई बार परेशानी से भी जुझना पड़ता है. उपभोक्ताओं की परेशानी को मद्देनजर रखते हुए बिजली निगम ने डिजिटल मीटरों को डाउनलोड करने, ट्रस्ट एप्लिकेशन तथा 1912 टोल फ्री नंबर जारी किया है. इतना ही नहीं बिजली निगम के एसई ने सख्त निर्देश जारी किए हैं कि जिन उपभोक्ताओं की बिजली बिल संबंधी परेशानी हैं, उन्हें प्राथमिकता से दूर करने का प्रयास किया जाएं. यदि किसी कर्मचारी इस बारे में लापरवाही बरतते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

यह भी पढ़े -   किसानों के नए ऐलान ने बढ़ाई मोदी सरकार की मुश्किलें, राकेश टिकैत बना रहे हैं रणनीति

bijli bill

बता दें कि बिजली निगम ने बिजली मीटरों की रीडिंग लेने,बिल तैयार करने, बिजली बिलों का वितरण करने तथा बिजली बिलों की वसूली का टेंडर निजी कंपनियों को दिया हुआ है, जिसके बाद से बिजली निगम की प्रणाली पर लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं. बिजली निगम के कार्यालयों में बिजली बिलों को ठीक करवाने वाले की भीड़ जमा रहती है और इस परेशानी को दूर करने के लिए एसई ने एसडीओ एसडीओ स्तर पर निर्देश जारी किए हैं कि त्रुटिपूर्ण बिलों को प्राथमिकता के साथ ठीक किया जाए और कर्मचारी उपभोक्ताओं की परेशानी को समझें और उनकी परेशानी को दूर करने का प्रयास करें.

यें होंगे नियम के काम

1. त्रुटिपूर्ण बिलों की समस्या को दूर करने के लिए निजी एजेंसी को निर्देश जारी किए गए है कि वे डिजीटल मीटरों को डाउनलोड करे, ताकि उपभोक्ताओं की तरह टिल डेट का बिल दिया जा सके, जिससे बिजली मीटरों की रीडिंग संबंधित दिक्कतों में कमी आएगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में जेबीटी और मुख्य शिक्षकों की तबादला प्रकिया फिर रद्द, नया शेड्यूल जारी

2. बिजली निगम ने साइट पर ट्रस्ट विकल्प शुरू किया हुआ है. जिसके माध्यम से उपभोक्ता बिजली मीटर की करंट रीडिंग का फोटो लेकर बिजली निगम की साइट पर ट्रस्ट विकल्प पर अपडेट करे और एक सप्ताह से पहले सही रीडिंग का बिल प्राप्त करें.

3. उपभोक्ताओं बिजली संबंधित समस्या का समाधान न होने पर 1912 पर कॉल करके शिकायत कर सकता है. शिकायत के बाद 7 दिन में शिकायत का समाधान कर दिया जाएगा. यदि उपभोक्ता की शिकायत का समाधान नहीं होता है तो वह दोबारा के शिकायत नंबर बताकर विवरण का पता करें. उपभोक्ता द्वारा शिकायत दोबारा दर्ज करवाने पर संबंधित कर्मचारियों पर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!