हरियाणा में किसानों का प्रदर्शन शुरू, धान से भरी ट्राली लेकर बीजेपी- जेजेपी विधायकों और सांसदों के घरों का घेराव

पानीपत । हरियाणा में धान खरीद की तारीख स्थगित होने का गुस्सा किसानों के चेहरों पर साफ देखने को मिल रहा है.किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी के आह्वान पर किसानों ने शनिवार सुबह से ही सत्तासीन पार्टी के विधायकों और सांसदों के आवास का घेराव करना शुरू कर दिया है. हरियाणा के हिसार, नरवाना,कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, पानीपत, यमुनानगर, अंबाला सहित कई जिलों में धान से भरी ट्रैक्टर ट्राली लेकर किसान घेराव कर रहे हैं.

Kisan Aandolan go sonipat

हिसार में डिप्टी स्पीकर के घर का घेराव

हिसार जिले में किसान धान से भरी ट्राली लेकर डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा के घर का घेराव करने पहुंचे हुए हैं. किसानों के विरोध को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है और साथ ही डिप्टी स्पीकर के आवास के सामने बेरिकेडिंग की गई है. किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच हल्की धक्का-मुक्की की खबर सामने आई है. फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है.

यह भी पढ़े -   अब हरियाणा में हर घर रोजगार देने की तैयारी, मनोहर सरकार ने तैयार किया एजेंडा

यमुनानगर में तनाव की स्थिति

यमुनानगर में शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर के आवास का घेराव करने धान की ट्रालियां लेकर किसान पहुंचे हैं. किसानों को रोकने के लिए पुलिस द्वारा बेरिकेडिंग की गई है. इस दौरान धक्का-मुक्की भी हुई है. वहीं पूर्व राज्यमंत्री कर्णदेव कंबोज का किसानों ने बीच सड़क ही रास्ता रोक लिया. उनकी गाड़ी के सामने किसानों ने नारेबाजी की और काले झंडे दिखाए.

जींद में जजपा विधायक का घेराव

जींद जिले के नरवाना में धान खरीद स्थगित होने पर किसानों ने जजपा विधायक रामनिवास सुरजाखेड़ा के आफिस का घेराव किया. प्रशासन द्वारा आफिस के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

यह भी पढ़े -   हरियाणा में किसानों की सरकार को चेतावनी, कहां- सब्र का इम्तिहान मत लीजिए

इस वजह से किसान नाराज

धान की सरकारी खरीद हर साल 1 अक्टूबर से शुरू होती है.हरियाणा सरकार ने भी इस तारीख से खरीद करने की तैयारी कर ली थी लेकिन केन्द्र सरकार ने नमी का हवाला देते हुए सरकारी खरीद स्थगित करने का आग्रह किया. जिसके बाद धान की सरकारी खरीद 11 अक्टूबर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है. किसानों का कहना है कि सरकार के इस फैसले से उन्हें मंडियों में रात गुजारनी पड़ेगी और उपर से बारिश का डर भी सता रहा है. इसलिए किसानों ने खरीद 2 अक्टूबर से शुरू नहीं करने पर विधायकों और सांसदों के घरों का घेराव करने का फैसला लिया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!