प्रधानमंत्री मोदी ने जल जीवन मिशन ऐप किया लॉन्च, योजना से हर घर पहुंचेगा नल से जल

नई दिल्ली | आज पूरा देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती मना रहा है. इस विशेष मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर घर स्वच्छ पानी पहुंचाने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए जल जीवन मिशन के मोबाइल ऐप और राष्ट्रीय जल जीवन कोष को लॉन्च किया.

pm modi

गांधी जयंती के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन का मोबाइल ऐप और राष्ट्रीय जल जीवन कोष को लांच किया. जल जीवन मिशन मोबाइल ऐप के जरिए लोगों को योजना से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियां मिलेंगी. लोगों में जागरूकता पैदा करने, व्यापक पारदर्शिता लाने और जिम्मेदारी तय करने के उद्देश्य इस ऐप की शुरुआत की गई है. प्रधानमंत्री ने प्रत्येक परिवार को स्वच्छ नल-जल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से 15 अगस्त, 2019 को जल जीवन मिशन की घोषणा की थी. जिसके तहत हर घर स्वच्छ नल का पानी पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में तैयार हो रही ‘पदमा’ पॉलिसी, गांव में बने प्रोडक्ट्स विदेशों तक बिकेंगे

राष्ट्रीय जल जीवन कोष के तहत ग्रामीण इलाकों में घरों, स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्रों पर जल आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाएगी और नल लगवाए जाएंगे. इसमें कोई भी व्यक्ति, कोई भी संगठन, कोई कंपनी या यहां तक कि एक गैर सरकारी संगठन, चाहे वह भारत में हो या विदेश में, ग्रामीण क्षेत्र में एक स्कूल या एक नल के पानी का कनेक्शन लेने के लिए आंगनबाडी केंद्र या आश्रम आदि के लिए धन दान कर सकता है.

प्रधानमंत्री ने संबोधन देते हुए कहा कि जल जीवन मिशन का उद्देश्य केवल पानी पहुंचाना नहीं है बल्कि यह विकेंद्रीकरण का एक बड़ा मोमेंट है. इसका मुख्य आधार, जनआंदोलन और जनभागीदारी है. उन्होंने बताया कि इस मिशन के तहत देश के 80 जिलों के सवा लाख गांवों में नल से जल पहुंचा है. 3.5 लाख गांव में जल समितियां बन चुकी है जिनमें 50 प्रतिशत महिलाओं की भागीदारी भी है. प्रधानमंत्री ने जल की महत्वता को बताते हुए, जल संरक्षण करने के लिए लोगों को प्रेरित किया.

यह भी पढ़े -   किसानों की आवाज बुलंद करते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना, MSP पर कानून बनाने की मांग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद किया. इस दौरान उन्होंने लाभार्थियों से उनका अनुभव पूछा और जल जीवन मिशन के बाद हुए बदलाव के बारे में भी जानकारी ली. पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, उत्तराखंड, मणिपुर और गुजरात सहित देश के पांच राज्यों में जल जीवन मिशन के लाभार्थियों के साथ से चर्चा की.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!