कांग्रेस में गतिरोध जारी, अब हरियाणा में G-23 की योजना का मन बनाया

नई दिल्ली । जी -23 की कांग्रेस गाथा जारी रहेगी, क्योंकि यह समूह हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले में एक, दूसरे कार्यक्रम की योजना बना रहा है. वही बात करें तो नेता पार्टी के फैसलों पर दूर होते नजर आ रहे हैं. पार्टी आलाकमान स्थिति का आकलन कर रही है.

CONGRESS

पार्टी द्वारा वर्तमान स्थिति से सावधानी से निपटा जा रहा है

बता दें कि पार्टी आलाकमान की हालत से सावधानी से निपट रही  है, ताकि पार्टी कैडर को कोई गलत संदेश न जाए. इसलिए शीर्ष नेतृत्व उन वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के मूड में नहीं है . जो जम्मू में गांधी ग्लोबल फैमिली के कार्यक्रम में एकत्रित हुए थे. साथ ही उनकी टिप्पणी के लिए कोई भी स्पष्टीकरण नहीं मांगा गया है. शीर्ष नेतृत्व द्वारा सार्वजनिक शर्मिंदगी से बचने के प्रयास किए जा रहे हैं. कुरुक्षेत्र जिले में एक रैली की योजना चल रही है.

यह भी पढ़े -   छत्रसाल स्टेडियम में अज्ञात लोगों और पहलवानों के बीच झड़प, सोनीपत के पहलवान की मौत

इसके लिए अभी तक यह निर्धारित नहीं किया गया है कि यह किस बैनर के अंतर्गत होगी . जी -23 के नेता जम्मू में मोर्चा खोलने वालों के बाद तनाव की स्थिति को सामान्य करने के मूड में नहीं है. जिसमें आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी, राज बब्बर, भूपेंद्र सिंह हुड्डा जैसे नेताओं ने कहा है कि पार्टी कमजोर हो रही है, जो कि विपक्ष को भी कमजोर कर रही है. सिब्बल द्वारा आजाद की वकालत करते हुए कहा गया कि हम नहीं जानते कि पार्टी गुलाम आजाद के अनुभव का उपयोग क्यों नहीं करना चाहती.

यह भी पढ़े -   दिल्ली स्टेडियम मे पहलवान की मौत पर ओलंपिक पदक विजेता सुशील पर FIR दर्ज

पार्टी के प्रवक्ता द्वारा दिया गया करारा जवाब

इसी के जबाव में पार्टी के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने मंच से कहा कि यह बेहतर होगा कि यह 5 चुनाव में कांग्रेस की मदद करें . यह सम्मानित नेता है और हम भी उनका सम्मान करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि जिसने इस्तेमाल शब्द का प्रयोग किया है, लगता है वह पार्टी की विरासत को नहीं जानता. जिस आदमी के बारे में इस शब्द का प्रयोग किया जा रहा है, वह 7 बार कांग्रेस का सांसद रह चुका है. साथ ही उन्होंने कहा कि सोनिया जी ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया.

यह भी पढ़े -   कोरोना की चैन तोड़ने के लिए 21 दिन का सम्पूर्ण लाकडाउन लगा सकती है मोदी सरकार, सेना को किया गया है अलर्ट

इंदिरा जी द्वारा उन्हें कैबिनेट में जगह दी गई, वह पार्टी के महासचिव भी रह चुके हैं. समूह के एक वरिष्ठ नेता द्वारा सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा गया है. यह नेता जम्मू में गांधी ग्लोबल फैमिली फंक्शन में उपस्थित थे. एएन आई को उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के बाद एआईसीसी से किसी ने उनसे संपर्क नहीं किया और हमें कांग्रेस के लिए काम करने की सलाह दी जा रही है. चुनाव सिर पर है लेकिन हमें पार्टी द्वारा स्टार प्रचारक नहीं बनाया गया है. अगर हम चुनाव प्रचार के लिए जाते तो यह एक उम्मीदवार के खर्च में शामिल होगा और हम से संपर्क नहीं किया गया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!