Video Viral: कच्चे कर्मचारियों की आवाज उठाने वाले नायब तहसीलदार ने मांगी इच्छा मृत्यु,कई सीनियर अधिकारियों पर लगाया मेंटली टॉर्चर का आरोप

रेवाड़ी । बीते दिनों रेवाड़ी में कष्ट निवारण समिति की बैठक में डाटा इंट्री आपरेटर्स व कच्चे कर्मचारियों को नियमित करने की मांग को लेकर सरकार से टकराने करने वाले रेवाड़ी के कार्यवाहक नायब तहसीलदार कपिल लांबा का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में उन्होंने अपने कई सीनियर अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाएं है.

VIRAL VIDEO 3

File Photo

नायब तहसीलदार वीडियो के माध्यम से कहते हुए दिख रहे हैं कि मैं जल्द ही इच्छा मृत्यु के लिए राष्ट्रपति को पत्र लिखूंगा.
नायब तहसीलदार कपिल लांबा ने कहा कि उन्हें सीनियर अधिकारियों द्वारा मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैंने विभाग से अपने लिए कभी किसी चीज की मांग नहीं की. मैंने सिर्फ कच्चे कर्मचारियों की भलाई की मांग की थी और मुझे इसी बात के लिए परेशान किया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   रेवाड़ी- दिल्ली के बीच आज से 21 दिसंबर तक कई पैसेंजर ट्रेने रद्द, इन ट्रेनों का बदला गया रूट

उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा उन्हें मेंटली टॉर्चर किया जा रहा है. मैं जल्द ही इच्छा मृत्यु के लिए राष्ट्रपति को पत्र लिखूंगा. अगर इससे पहले मेरे साथ कोई अनहोनी घटना घटती है तो इसके जिम्मेदार डिप्टी चीफ इलेक्ट्रोल राजकुमार, सुरेन्द्र शर्मा, हरिकेश सैनी और अस्सिटेंट धर्मपाल को माना जाए.

अगर राष्ट्रपति की ओर से मेरी इच्छा मृत्यु की अपील मंजूर होती है तो मैं सुसाइड नोट में इन चारों के नाम लिखूंगा. सुसाइड करने से पहले भी मैं एक और वीडियो जारी करुंगा जिसमें 4-5 अधिकारियों के नामों का खुलासा करूंगा. कपिल लांबा ने कहा कि इन अधिकारियों ने मेरी जिंदगी को नरक बना दिया है. मेरी जीने की आस खत्म हो गई है. नौ साल की नौकरी में मेरे दस ट्रांसफर हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि ईमानदारी से काम करने की यही सजा है. कभी मुझे एक जगह पर टिककर काम नहीं करने दिया. ईमानदारी से काम करने वालों का आज देश-प्रदेश में यहीं हाल है. किसी के अधिकारों की आवाज उठाना आज के समय में गुनाह हो गया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!