रोहतक में देश का पहला एलिवेटेड ट्रैक शुरू, 112 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी गाडियां

रोहतक । रोहतक में जाम से परेशान लोगों को बड़ी राहत मिली है. करीब ढाई साल बाद देश का पहला रेलवे एलिवेटेड ट्रैक शुरू हो गया है. रविवार से ट्रेनों की आवाजाही इस पर शुरू हो गई है. शहर के चारों फाटक खत्म कर दिये गए हैं.अब फाटक बंद होने से लोगों को समय की बचत तो होगी ही, साथ ही जाम से भी मुक्ति मिलेगी. वहीं श्रीनगर कालोनी वाला फाटक पहले की तरह चलता रहेगा.

TRAIN RAILWAY STATION

गांधी कैंप के लोगों के लिए ट्रैक की आरई वाल में 10 क्रोसिग छोड़ी गई है. ट्रेक को बनाने पर 350 करोड़ रुपए की लागत आई है. ट्रैक डबल फाटक के पास से शुरू होकर सैक्टर -6 के पास खत्म होगा. इसकी लंबाई 4.8 किलोमीटर है. रविवार को स्पेशल ट्रेन चलाई गई जो 112 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ी . ट्रेन ने स्टेशन से सैक्टर -6 तक पहुंचने में केवल दो मिनट का ही समय लिया.

यह भी पढ़े -   पॉजिटिविटी दर के मामले में हरियाणा गोवा के बाद दूसरे स्थान पर

रविवार सुबह रेलवे सेफ्टी के कमिश्नर लतीफ खान करीब 150 अधिकारियों और टैक्निकल स्टाफ के साथ रोहतक पहुंचे. वे कुछ देर तक स्टेशन पर रुकने के बाद श्रीनगर कालोनी के पास रेलवे एलिवेटेड ट्रैक पर पहुंचें, जहां से ट्रायल शुरू होना था. ट्रायल के लिए अधिकारी एक बोगी में बैठे ओर पीछे पीछे एक इंजन चलाया गया. हर एंगल से ट्रैक का निरिक्षण किया गया ओर सैक्टर-6 तक पहुंचे. इसके बाद अधिकारी वापस आ गए. लाइन क्लियर करवाने के बाद 14 डिब्बों की स्पेशल ट्रेन इस ट्रेक पर चलाई गई. इसकी गति 112 किलोमीटर प्रति घंटा रही.

यह भी पढ़े -    बेरोजगारी दर के मामले में अव्वल हरियाणा, सारे रिकॉर्ड तोड़ मई में भी नंबर वन

दो मिनट से भी कम समय में ट्रेन ने ट्रैक को पार कर लिया. टीम में सिग्नल टेलिकॉम, इलेक्ट्रिक, इंजिनियरिंग और वर्कशॉप अधिकारियों समेत एडीआरएम अशिवनी यादव, टीईसी डीपी सिंह,सीईडी राजेश सिंह व अन्य अधिकारी शामिल रहे. शाम पांच बजे तक हर बिंदु पर खरा उतरने के बाद ट्रैक के संचालन को मंजूरी दी गई. अब ट्रैक पर रुटीन में ट्रेनै दौड़ने लगेगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!