रोहतक रोडवेज ने लिया बड़ा फैसला, ओड इवन नंबर से चलेंगी रोडवेज बसे, शेड्यूल घोषित

रोहतक | प्रदूषण के बढ़ते स्तर को रोकने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा ऑड इवन फार्मूले का इस्तेमाल किया गया था. अब कोरोना को कंट्रोल करने के लिए भी रोहतक रोडवेज भी इसी ओड इवन फार्मूले की राह पर चलता हुआ नजर आ रहा है. रोडवेज डिपो ने अपने सभी चालकों और परिचालकों को नंबर जारी किए हैं. बता दें कि इसके आधार पर ओड तारीख और ओड नंबर वाले चालकों व परिचालकों की ड्यूटी लगाई गई है, वही इवन नंबर पर इवन तारीख  वाले चालकों और परिचालकों ड्यूटी लगाई गई है. इसके अतिरिक्त रोडवेज डिपो ने चालकों और परिचालकों को सोशल डिस्टेंस, मुंह पर मास्क के साथ-साथ, बार-बार सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के निर्देश भी दिए हैं.

यह भी पढ़े -    रोहतक के टिटोंली और घिलौड गांव में थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला, किया गया सील

Haryana Roadways Bus

50% कर्मचारी दे रहे है ड्यूटी

उन्होंने कहा कि अगर निर्देशों की अवहेलना हुई, तो चालक और परिचालकों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी. बढ़ते कोरोनावायरस ने एक बार फिर से रोहतक रोडवेज डिपो की आर्थिक तौर पर कमर तोड़ दी है. बता दें कि यात्रियों की कमी की वजह से रोडवेज को अपनी बस सेवा ही सीमित करनी पड़ रही है. सोमवार को विभिन्न रूटों पर रोडवेज डिपो ने महज 70 बसे ही चलाई. इनमें से कुछ बसें अंबाला,  कुछ विशेष सोनीपत आदि रूटों पर भेजी गई.

यह भी पढ़े -   BHIM App नहीं चलने पर कस्टमर केयर पर की थी कॉल, लगी 3 लाख 40 हजार रुपए की चपत

अधिकतर बसें बस परिसर में ही खड़ी है. साथ ही जो बसें, बस रूटों पर चलाई जा रही है उनमें भी यात्रियों की संख्या 50% रखी गई है. ऐसे में रोडवेज डिपो को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है. रोडवेज डिपो की तरफ से कर्मचारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए 50% कर्मचारी ही ड्यूटी पर आ रहे हैं. नियमों को अच्छी प्रकार से लागू करने के लिए चालक व परिचालकों को नंबर दिए गए हैं. इन नंबरों के आधार पर चालक व परिचालकों की ड्यूटी लगाई गई.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!