रोहतक गोलीकांड : मौत से जंग जीत कर तनिष्का के हौसले बुलंद, बनना चाहती है किरण बेदी जैसे पुलिस अफसर

रोहतक | हरियाणा के रोहतक जिले के सांपला गांव की तनिष्का शादी के बाद ससुराल पहुंचने से ही गोली कांड का शिकार होने के कारण चर्चा में आई. बता दें कि तनिष्का 25 दिन अस्पताल में जिंदगी और मौत से लड़ने के बाद अब ठीक है. तनिष्का का कहना है कि वह किरण बेदी कि जैसी एक जिम्मेदार तथा हिम्मतवाली बढ़ी अफसर बनना चाहती है. जिसके लिए उसने अभी से पढ़ाई करनी शुरू भी कर दी है.

rohtak

मौत को हराकर पहुंची घर

आपको बता दें कि रविवार के दिन तनिष्का के परिजन उसे मेदांता अस्पताल से अपने साथ घर ले गए हैं. गौरतलब है कि 5 गोलियां लगने के बाद भी तनिष्का ने मौत से जंग जीती है. अभी भी तनिष्का के शरीर में पांच गोलिया बाकी है. इस दौरान तनिष्का का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वायरल गोरी वीडियो में तनिष्का बता रही है कि मैं पुलिस अफसर ही क्यों बनना है. इस पर वह बताती है कि लड़कियां सुरक्षित नहीं है. वह उन्हें सुरक्षा प्रदान करने के लिए बिना दबाव के दिन और रात कहीं भी आ जा सके. जिसके लिए उन्हें ऐसा प्लेटफॉर्म देगी ताकि बिना घबराएं लड़कियां कहीं भी आ जा सके. इसके साथ ही उन्होंने उदाहरण दिया कि वे जिस हॉस्पिटल में दाखिल थी वहा डॉक्टर और नर्स रात के समय भी ड्यूटी करती थी.

जानिए परेशान करने वालों पर क्या बोली तनिष्का

तनिष्का ने बताया कि जो लड़कियों को परेशान करते हैं. उन्हें गोली का जवाब गोली से और पत्थर का जवाब पत्थर से देना चाहिए. जिसके कारण कोई भी किसी को परेशान करने से पहले हजार बार सोचे. ऐसा ना हो कि कोई अपनी संतुष्टि के लिए किसी को भी परेशान करें ऐसा खत्म होना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि वह किरण बेदी को अपना आदर्श मानती है क्योंकि उनकी तरह ही मैं डीएसपी भी बनना चाहती है.

यह भी पढ़े -   करनाल के बस स्टैंड पर दो गुटों में हुआ जमीनी विवाद की वजह से झगड़ा, झगड़े में बरसी ईटे

शरीर में अभी 5 गोलियां है बाकी

बता दें कि अभी भी तनिष्का के शरीर में 5 गोलियां बाकी है उसके शरीर में कमजोरी होने के कारण अभी ऑपरेशन करने की हालत नहीं है जब वह स्वस्थ हो जाएगी तो उन्हें दोबारा ऑपरेशन के लिए बुलाया जाएगा. तब तक के लिए तनिष्का का उपचार घर पर ही किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   कलयुगी माँ: नवजात बच्ची को जन्म के बाद कूड़े के ढेर में फेंका, पूछताछ में सामने आई ये वजह !

जाने क्या था पूरा मामला

आपको बता दें कि बाली आनंदपुर गांव निवासी मोहन ने बहु अकबरपुर पुलिस को शिकायत में बताया था कि वह 1 दिसंबर को उसकी शादी सांपला निवासी तनिष्का के साथ हुई थी शादी के बाद जब वे रास्ते से 10:30 बजे के आसपास जुनून को लेकर अपने गांव की ओर रवाना हो रही थे. तब दुल्हे का भाई सुनील कार चला रहा था. साथ ही उसका साला उज्जवल भी बैठा हुआ था.जो हुआ है. अपने गांव पाली के पास शिव मंदिर पहुंचे तो एक इनोवा कार ने उन्हें करके उनकी गाड़ी को रुकवा लिया. इनोवा कार से दो युवक नीचे उतरे उनके हाथों में रिवाल्वर थी. उसमें सबसे पहले एक युवक ने कार की चाबी निकाल ली इसके बाद दूसरा युवक पीछे गया और दुल्हन को चेहरे गर्दन और पीठ में गोली मार दी. हमलावरों ने जाते समय हवाई फायर करते हुए सुनील की चैन भी तोड़ कर साथ ले गए दुल्हन को पीजीआई में दाखिल कराया गया. जहां कई दिन तक उसका उपचार चलता रहा उसके बाद उसे अन्य निजी अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया वहीं एसआईटी में साहिल और उसके साथी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. क्योंकि तनिष्का की मदद के लिए पंचायती आगे आई थी. इस दौरान सांपला बाजार को बंद भी किया गया था.

यह भी पढ़े -   अजब गजब Love Story, नाराज प्रेमिका को मनाने के लिए नकली पुलिसकर्मी बना युवक, पहुंचा जेल

तनिष्का का हाल-चाल जानने पहुंचे सांसद अरविंद शर्मा

बता दें कि रोहतक लोकसभा क्षेत्र के सांसद अरविंद शर्मा ने रविवार के दिन तनिष्का के घर पहुंच कर उसका हालचाल जाना. परिजनों ने सांसद को पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी भी दी और कहा कि अभी तनिष्का के शरीर में पांच गोलियां बाकी है. शरीर में कमजोरी होने के कारण डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने से मना कर दिया और कहा कि अभी स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है. सांसद ने परिजनों को भरोसा दिलाया कि वह हर संभव मदद करेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!