मौसम में फिर से बदलाव की संभावना, बूंदाबांदी और तेज आंधी के आसार

हिसार । हरियाणा में पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव व राजस्थान के उपर बनने वाले साइक्लोनिक सर्कुलेशन की वजह से प्रदेश में 19 अप्रैल लेट नाइट से फिर से मौसम में बदलाव की संभावना जताई गई है. जिससे राज्य के उत्तरी व पश्चिमी जिलों में 20 व 21 अप्रैल को बादलवाही रहने, बीच-बीच में तेज हवाएं चलने तथा कहीं-कहीं बुंदाबांदी या हल्की बारिश की आंशका है. इसके बाद 22 अप्रैल से मौसम खुश्क व गर्म रहने की संभावना है.

यह भी पढ़े -   हिसार: कोरोना महामारी में कालाबाजारी करने वालो की पैरवी नहीं करेगा कोई वकील

BADALMOUSAMCLOUD

एचएयू के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ मदन खिचड़ के अनुसार 13 अप्रैल को जारी पूर्वानुमान अनुसार ही हरियाणा प्रदेश के उतरी व पश्चिमी क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से ज्यादातर क्षेत्रों में 16 अप्रैल को व कुछ एक स्थानों पर 17 अप्रैल को धूल भरी तेज हवाएं व गरज चमक के साथ बूंदाबांदी व हल्की बारिश दर्ज की गई, जिससे दिन व रात के तापमान में हल्की गिरावट देखने को मिली है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मौसम ने ली करवट, तेज आंधी के साथ बारिश व गिरे ओले

मौसम आधारित कृषि सलाह

  • मौसम में बदलाव की संभावना को देखते हुए खेतों की नमी को संरक्षित करें व नरमा कपास की बिजाई 2-3 दिन रोक लें.
  • गेहूं की कटी हुई फसल के बंडल अच्छी तरह से बांधे ताकि तेज हवाओं से उड़ ना पाए.
  • गेहूं, सरसों आदि फसलों को बेचने के लिए मंडी ले जाते समय तिरपाल आदि का प्रबंध अपने साथ रखें.
  • तेज हवाएं चलने व बारिश की संभावना को देखते हुए गेहूं व सरसों की तुड़ी आदि को ढककर सुरक्षित स्थान पर रखें.
हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!