हरियाणा में कल से होगा मौसम में बदलाव, बारिश के साथ तापमान में गिरावट

हिसार । हरियाणा में दोबारा से पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव देखने को मिल रहा है. मौसम वैज्ञानिकों द्वारा 5 मई को मौसम परिवर्तनशील की संभावना जताई गई है. 4 मई को भी कहीं कहीं इसका असर देखने को मिला. जिसकी वजह से प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश आने की संभावना है. बता दें कि उत्तर व दक्षिणी पश्चिमी जिलों में 30 अप्रैल रात्रि से 2 मई तक कहीं-कहीं धूल भरी हवाओं में गरज के साथ हल्की बारिश देखने को मिली.

यह भी पढ़े -   रेवाड़ी के बाद अब हिसार से दो कोविड कैदी जाली काटकर फरार, मचा हड़कंप

badal weather mausam

6 मई के बाद चलेगी धूल भरी आंधी 

जिसके कारण दिन का तापमान सामान्य के आसपास ही बना हुआ है. लेकिन बादलवाई छाने से रात के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मंगलवार को रात का तापमान 21.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. यह तापमान सामान्य तापमान से 3 डिग्री सेल्सियस कम है. वहीं बीते सोमवार को गुरुग्राम में दिन का तापमान सर्वाधिक 41.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ मदन लाल खिचड़ ने बताया कि हरियाणा प्रदेश में 8 मई तक मौसम परिवर्तनशील बने रहने की आशंका है.

यह भी पढ़े -   कुदरत का कहर: आसमानी बिजली गिरने से 22 बकरियों की दर्दनाक मौत

जहां एक और पश्चिमी देशों के आंशिक प्रभाव से 5 मई से रात्रि के तापमान में बदलाव देखने को मिलेगा. राज्य के ज्यादातर जिलों में 6 व 7 मई को बादलवाई व धूल भरी हवाओं के साथ हल्की बारिश देखने को मिल सकती है. पश्चिमी विक्षोभ भूमध्य रेखा क्षेत्र में उत्पन्न होने वाली वह बाह्य उष्णकटिबंधीय आंधी है. जो सर्दी में भारतीय उपमहाद्वीप के पश्चिमोत्तर भागों में अकस्मात बारिश ले आती है. यह बारिश मानसून की बरसात से भिन्न होती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!