हरियाणा की बेटी को मिला इंडियन एक्सीलेंट अवार्ड, इंडियन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज

अंबाला । 23 वर्षीया युवती अरशजोत कौर पुत्री ओंकार सिंह निवासी कबाड़ी बाजार चौक अंबाला छावनी ने छोटी सी उम्र में ही इंडियन एक्सीलेंट अवार्ड सम्मान हासिल कर किया है. बेटी की इस कामयाबी पर परिजन फूले नहीं समा रहे हैं और घर पर भी बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. छोटी सी उम्र में दुनिया भर से जॉब ऑफर मिलने पर इंडियन बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी नाम दर्ज हुआ है. इंटरनेट मीडिया में भी गूगल, यूट्यूब और ट्यूटर से भी अर्शजोत शॉरटिफाइड है.

यह भी पढ़े -   कल हरियाणा में मनाया जाएगा ‘वर्ल्ड कार फ्री डे’, CM खट्टर चलाएंगे साईकिल

ambala news 4

बी.कॉम फाइनल में 86% अंक

एमएमयू मुलाना से बी. कॉम ऑनर्स फाइनल परीक्षा साल 2019 में 86% अंक हासिल किए. यहां पढ़ाई के दौरान ही अर्शजोत कौर मिस फ्रेशर बनीं. मिस फ्रेशर बनने के साथ ही वह पढ़ाई में इतनी मगन हो गई कि आज उसके नाम का डंका अंबाला ही नहीं अपितु दुनिया के हर कोने में बजने लगा है.
18 वर्ष की आयु में ही रिलायंस,दवा कंपनी विप्रो,करवी स्टाकिस्ट और माइ अप्रेटर से जॉब ऑफर मिलने शुरू हो गए. अमेरिका की सेमस्स और हब स्पॉट अकेडमी से नौकरी का आफर मिल चुका है. साल 2019 में वाशिंगटन डीसी से पेड इंटर्नशिप का ऑफर भी मिला.

यह भी पढ़े -   नवजात के जन्म के 21 दिन के अंदर बनवा लें बर्थ सर्टिफिकेट, वरना काटने पड़ सकतें हैं चक्कर

विश्व व्यापी संस्थाओं ने दिया बुलावा

WHO जैसी विश्व व्यापी संस्थाओं से अर्शजोत कौर को नौकरी के लिए बुलावा आ चुका है. इसके अलावा आस्ट्रेलिया एंबेसी और यूनेस्को में भी जॉब करने का इंटेंट लेटर आया , लेकिन प्रस्ताव को पेंडिंग में डालते हुए उसने अपने देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा संजोया हुआ है.

दोस्त स्राइन का विशेष सहयोग

अर्शजोत कौर ने बताया कि उसकी इस उपलब्धि के पीछे दोस्त स्राइन का विशेष सहयोग रहा है. वो हमेशा एक अभिभावक की तरह रास्ता दिखाने का काम करती है. स्राइन ने हमेशा मुझे आगे बढ़ने का जज्बा और समय-समय पर हौसला अफजाई करने का काम किया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!